औरंगाबादबिहार

कोई हाथी घोड़ा थोड़े देना है, हम सब मैनेज कर देंगे, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी का हुआ स्टिंग

हेडमास्टर के ऊपर ग्रामीणों की शिकायत को मैनेज करने की बात हुई टेप

औरंगाबाद।भले ही बिहार सरकार द्वारा सूबे के विभिन्न विभागों के अधिकारियों को भ्रष्टाचार मुक्त सेवा देने के लिए प्रति वर्ष शपथ क्यों नही दिलाई जा रही हो।मगर उस शपथ का असर कुछ अधिकारियों में वही तक रहती है जब तक शपथ के शब्द का अंत नही हो जाता हो।फिर भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे अधिकारी नए मुर्गे की तलाश में जुट जाते है और ऐसी बातें मोबाइल पर पूरी धृष्टता के साथ कर सौदा तय कर लेते हैं।ऐसा ही एक मामला शिक्षा विभाग से सामने आया है जिसका पूरा ऑडियो emaatimes को लोक जनशक्ति पार्टी के जिला प्रवक्ता सुधीर शर्मा ने उपलब्ध कराया है और उक्त ऑडियो के आलोक में जिला प्रशासन से कार्रवाई की मांग की गई है।

मामले की जानकारी देते हुए श्री शर्मा ने बताया कि रफीगंज प्रखंड के लट्टा पंचायत के तेमुड़ा गांव स्थित मध्य विद्यालय में एक शिक्षक रामकेश प्रसाद है जिनके परिवार में एक मुखिया भी है।शिक्षक रामकेश प्रसाद का रिश्ता स्कूल में नही आना और बच्चों को पढ़ाने से कम राजनीति से ज्यादा है।श्री शर्मा ने कहा कि यही कारण है कि वे ग्रामीणों के साथ बदसुलूकी से भी बाज नही आते।ऐसे ही विद्यालय में पढ़ाई के सम्बन्ध में जब ग्रामीण कौशल कुमार ने विद्यालय पहुंचकर बच्चों को पढ़ाने से संबंधित बातें की तो उन्होंने उन्हें धक्के देकर बाहर निकाल दिया।इसकी शिकायत वरीय अधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से की गई तो उन्होंने इसे न तो संज्ञान में लिया और न ही कोई कार्रवाई की।

 

श्री शर्मा ने कहा कि आज यानी 13 अप्रैल को जब बीईओ रफीगंज से बात की गयी तो उन्होंने समझा कि तेमुड़ा मध्य विद्यालय के शिक्षक बात कर रहे है और उन्होंने शिकायत मैंनेज करने की बात कर डाली।प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने यहां तक कह डाला कि जैसे देवजरा का मामला ठीक किया है वैसे ही इस मामले को भी ठीक कर देंगे।

श्री शर्मा ने बताया कि इस संबंध में कार्रवाई के लिए ग्रामीणों के द्वारस हस्ताक्षरित एक आवेदन जिलाधिकारी को दिया गया है और विद्यालय में पढ़ाई की जगह राजनीति करने वाले शिक्षक और कार्रवाई न कर शिकायत को मैनेज करने वाले प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को हटाने की मांग की है।श्री शर्मा ने बताया कि आवेदन लेने के बाद जिलाधिकारी ने पूरे मामले की जाँच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

 

वही जब इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा एक लिखित आवेड़न प्राप्त हुआ है और आवेदन के आलोक में पूरे मामले की जॉच कराई जाएगी।अगर मामला सत्य पाया गया तो निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page