औरंगाबाद

लेट्स इंस्पायर बिहार की मुहिम से जुड़े गया के चिकित्सक डॉ संदीप,चलाया निशुल्क चिकित्सा शिविर

औरंगाबाद। बिहार सरकार के गृह विभाग के विशेष सचिव आईपीएस विकास वैभव ने बिहार की संपन्नता,बिहार की उद्यमिता,बिहार की विद्वता एवं बिहार की धरोहरों की विशेषता को देश के लोगों के बीच रखने को लेकर एक मुहिम लेट्स इंस्पायर बिहार की शुरुआत की।आज यह मुहिम न सिर्फ बिहार में अपनी प्रसिद्धि पा रही है बल्कि देश के मानचित्र पर अपनी पकड़ बना रही है।यही कारण है कि देश हो या विदेश वहां के लोग इससे जुड़कर बिहार की सेवा कर रहे है।

 

इसी कड़ी में औरंगाबाद की मिट्टी से जुड़े हड्डी एवं नस रोग विशेषज्ञ डॉ संदीप कुमार एवं उनकी पत्नी व शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ योगिता सिन्हा ने गया में एक निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जहां लगभग 300 जरूरतमंदों को इलाज के पश्चात निशुल्क दवाईयां दी गई।इस आयोजन के मुख्य अतिथि औरंगाबाद के व्यवसायिक क्षेत्र के एक बड़े नाम एवं प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता तथा लेट्स इंस्पायर बिहार से जुड़कर कार्य कर रहे राजेश रंजन रहे।

 

आयोजन के संदर्भ में चर्चा करते हुए चिकित्सक डॉ संदीप ने कहा कि एक कहावत प्रचलित है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग का वास होता है।बस उसी उद्देश्य को लेकर हम लेट्स इंस्पायर बिहार की मुहिम से जुड़े हैं। क्योंकि स्वस्थ रहेगा बिहार तभी बढ़ेगा बिहार को धरातल पर उतारने की कवायद की जा रही है। डॉ संदीप ने कहा कि बिहार के युवा इस मुहिम से जुड़कर अपने अपने क्षेत्र को जागृत करें ताकि हमारी पहचान अमिट रहे।

 

वही मुख्य अतिथि युवा समाजसेवी राजेश रंजन ने बताया कि लेट्स बिहार इंस्पायर के प्रणेता बिहार सरकार के गृह विभाग के विशेष सचिव की सोच है कि हमे अपनी उर्जा को संर्घष नहीं बल्कि सेवा और सहयोग में लगाने की जरूरत है। हमें आत्म चिंतन कर अपने पूर्वर्जों और धरोहरों के बारे में सोचना चाहिए। जाति-धर्म से उठकर एक दूसरे को सहयोग और जागरूक कर ही हम खुद, समाज और बिहार को आगे बढ़ा सकते हैं।

 

राजेश रंजन ने कहा कि शिक्षा, समता और उद्यमिता के लिए बिहार को जागरूक करना जरूरी है। तभी हमें अपनी शक्ति का एहसास होगा। इसी उद्देश्य को सार्थक करने के लिए कदम बढ़ाया गया है और यह कदम तब तक पीछे नहीं होगा जबतक बिहार की समृद्धि, बिहार की योग्यता की पूछ देश के हर कोने में न हो। हमें बिहार का मान और बिहार का स्वाभिमान स्थापित करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page