औरंगाबाद

हिंदी दिवस पर आयोजित हुआ सम्मान समारोह सह अखिल भारतीय कवि सम्मेलन

नेल्सन मंडेला पुरस्कार से सम्मानित झारखंड की मशहूर गजल गायिका मृणालिनी अखौरी ने भी किया शिरकत

औरंगाबाद। हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर शहर के चित्रगुप्त सभागार में सम्मान समारोह सा अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। आयोजन की शुरुआत प्रिय कवि अरविंद अकेला ने अपनी कविता छुप-छुप के मिलने को,दिल कितने बेकरार थे,जुबाँ खामोश थी,नयनों के वार थे,थे वे दिन कितने बेकरार थे से किया जिसे कवि सम्मेलन में मौजूद लोगों ने जमकर सराहा।

 

हिन्दी दिवस के अवसर पर आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन सह सम्मान समारोह का उद्घाटन स्थानीय सदर विधायक आनंद शंकर सिंह एवं अध्यक्षता वरीय कवि सिपाही पाण्डेय मनमौजी जबकि संचालन वरिष्ठ कवि शंकर कैमूरी ने किया।

 

वरीय कवि श्री राम राय एवं संपादक श्रीराम अम्बष्ठ के कुशल संयोजन में आयोजित कवि सम्मेलन सह सम्मान समारोह का आयोजन साहित्य,कला व संस्कृति की संवाहक संस्था साहित्यकुंज ने की। जिसमें सिपाही पाण्डेय मनमौजी(भभुआ) इलाहाबादी (नई दिल्ली), मृणालिनी अखौरी (राँची), सिद्धेश्वर (पटना), श्री राम राय(औरंगाबाद), अनिल कुमार पाण्डेय अकेला(भभुआ) एवं अरूण औरंगाबादी सहित कई कवियों ने काव्य पाठ कर मंच को वातावरण को काव्यमय बना दिया।

 

इसके पूर्व सदर बिधायक आनंद शंकर सिंह,वरीय पत्रकार कमल किशोर,श्री राम अम्बष्ठ एवं श्री राम राय द्वारा सम्मान समारोह सह अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का उद्धाटन किया गया।

 

सम्मान समारोह में सुश्री मृणालिनी अखौरी, प्रो जितेन्द्र नारायण सिंह,मुश्ताक अहमद मुश्ताक,सतीश कुमार सिंह,शिव नारायण सिंह,एवं प्रोफेसर तारकेश्वर प्रसाद सिंह एवं जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता को मरणोपरांत सम्मानित किया गया। इसके अलावे कवि शंकर कैमूरी,सिपाही पाण्डेय मनमौजी,सिद्धेश्वर,नेहा इलाहाबादी को सम्मानित किया गया।

 

सम्मान समारोह के पूर्व पूर्व पत्रकार व अधिवक्ता उदय कुमार सिंह,वरीय सामाजिक कार्यकर्ता रामानुज पाण्डेय,सिद्धेश्वर विद्यार्थी के द्वारा विचार गोष्ठी का उद्घाटन किया गया।सोशल मिडिया में हिन्दी की प्रासंगिकता विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी का संचालन अरविन्द केला ने किया जबकि संयोजन श्री राम राय ने किया।कार्यक्रम में वरीय पत्रकार कमल किशोर ने आयोजित कार्यक्रम में हिन्दी को राष्ट्रभाषा घोषित करवाने के लिए अपने महत्वपूर्ण विचार व्यक्त किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page