औरंगाबाद

बच्चे हैं बेकसूर,प्राथमिकी से नाम हटाए हुजूर,एसपी से गुहार लगाने पहुंची महिलाएं

औरंगाबाद। देव थाना क्षेत्र के बिशनपुर चट्टी में बीते दिनों ट्रैक्टर की चपेट में आकर इसरौर पंचायत के वार्ड सदस्य विकास कुमार की मौत हो गई थी। मौत के बाद ग्रामीणों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया था और मुआवजे की भी मांग की थी। लेकिन जाम के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा तोड़फोड़ की घटना भी की गई।

 

घटना के बाद से देव थाना पुलिस ने इस मामले में कुल 18 ज्ञात तथा 40 अज्ञात लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया था।पुलिस द्वारा ग्रामीणों एवं बच्चों को अभियुक्त बनाए जाने के बाद पूरा गांव दहशत में है। जिसको लेकर कई दुकान घटना के दिन से बंद है।क्योंकि ग्रामीण पकड़े जाने के भय से अपने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को नही खोल रहे हैं।

 

इस मामले को लेकर शुक्रवार को गांव की करीब एक दर्जन महिला एसपी ऑफिस पहुंची और अपने अपने बच्चो के नाम घटना के बाद दर्ज प्राथमिकी से हटाने की मांग की है।महिलाओं ने बताया कि देव थाना पुलिस ने उनके बच्चों का नाम बेवजह इस घटना में शामिल किया है।जबकि वे सिर्फ घटना के बाद एकत्रित भीड़ को देखकर वहां पहुंचे थे और उसी दौरान जाम लगी और असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़ फोड़ की गई थी।

 

महिलाओं ने एसपी से गुहार लगाई है कि बेवजह उनके बच्चों के नाम प्राथमिकी में दिए गए हैं।इसलिए उनके नाम को प्राथमिकी से हटाकर उनके भविष्य निर्माण में सहयोग करें ताकि वे आगे चलकर एक जिम्मेवार नागरिक बन सके। एसपी से मिलने पहुंची महिला विमला देवी के बेटे नीरज कुमार, प्रतिभा देवी के बेटे राहुल कुमार, कुंती देवी के बेटे रविंद्र और अमित तथा अनीता देवी के बेटे प्रिंस एवं शिवम कुमार को अभियुक्त बना दिया गया है। जिससे पूरे परिवार के साथ साथ गांव के लोग भी काफी परेशान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page