औरंगाबाद

श्वांसों में निहित परमात्मा की शक्ति को पहचान लें, होती है हर स्वांस में परमात्मा की अनुभूति

औरंगाबाद।सच्चिदानंद सिन्हा महाविद्यालय औरंगाबाद के सेवानिवृत्त इतिहास विभागाध्यक्ष प्रोफेसर टी.एन. सिन्हा के निवास पर एक भव्य आध्यात्मिक, साहित्यिक व प्रेरणादायक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें राज विद्या केंद्र के तत्वावधान में श्री प्रेमपाल सिंह रावत जी के बहुमूल्य विचारों का श्रवण व अवगाहन किया गया।कार्यक्रम का निर्देशन जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय औरंगाबाद के पूर्व स्टेनो श्री अभय कुमार ने किया।

 

इंटर विद्यालय जम्होर के वरीय शिक्षक डॉ राकेश रंजन ने अतिथियों का स्वागत किया।रावत जी के अनुसार मानव जीवन में हर श्वास प्रश्वास का बहुत महत्व है।प्रत्येक जीवन कर्मों पर परमात्मा की निगरानी है।हर साँस में ईश्वर का स्मरण होता है।आवश्यकता बस यही है कि इसके लिए आत्म शक्ति व आत्म उद्बोधन हो।काम, क्रोध, मद और लोभ से प्रभावित यह मनुष्य अगर अपनी हर साँस में इस परमात्मा की अनुभूति करे तो वह जीवन यात्रा को सहजता से पूर्ण कर सकता है।

 

इस अवसर पर जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय औरंगाबाद के लिपिक विजय कुमार, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जम्होर के शिक्षक डॉ मनोज मिश्र, डॉ हेरम्ब कुमार मिश्र, अरविंद कुमार सिंह,अभिमन्यु पाठक, संतोष कुमार, अजय कुमार, रामनारायण सिंह, डॉ संजय कुमार आदि कई लोगों की सक्रिय भूमिका रही।डॉ राकेश रंजन जी द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के उपरांत कार्यक्रम समापन की घोषणा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page