औरंगाबाद

विश्व हिंदू परिषद के हित चिंतक अभियान से 15 दिनों में जोड़े जाएंगे एक करोड़ हिंदू

औरंगाबाद। शहर के अरुण नगर में रविवार से विश्व हिंदू परिषद के हित चिंतक अभियान की शुरुआत कर दी गई। काफी संख्या में कार्यकर्ता गण ने हित चिंतक अभियान में भाग लिया और रसीद कटवा कर इस अभियान को मजबूत किया। अरुण नगर जिला सह मंत्री रमाकांत सिंह एवं जिला उपाध्यक्ष सिद्धेश्वर विद्यार्थी ने बताया कि 10,000 हिचिंतक बनाने का लक्ष्य अरुण नगर से निर्धारित किया गया है। जिसे बहुत आसानी से पूरा कर लिया जाएगा। इसमें कार्यकर्ता गण बहुत उत्साह के साथ हित चिंतक अभियान को सफल बनाने के लिए संकल्पित दिखे और सभी ने रसीद कटवा कर उसे सभी को इसमें भाग लेने के लिए संदेश दिया।

6 नवंबर से प्रारंभ हुए पखवाड़े में विश्व हिंदू परिषद् देश के डेढ़ लाख गांवों तक पहुंच कर एक करोड़ से अधिक हिन्दूओं को जोड़ेगा। विहिप के केंद्रीय महा मंत्री श्री मिलिंद परांडे ने बताया कि 2024 में विश्व हिन्दू परिषद् की स्थापना के साठ वर्ष पूर्ण हो जायेंगे इसके निमित्त षष्टि पूर्ती के अवसर पर विश्व हिंदू परिषद के इस देश व्यापी हितचिंतक अभियान को सर्वस्पर्शी बनाने हेतु 6 नवंबर से 20 नवंबर तक हम समाज के हर जाति मत पंथ संप्रदाय से संपर्क कर उन्हें हिन्दू समाज व राष्ट्र हित के कार्यों से जोड़ेंगे।

 

अभियान में विशेष वर्ग के लोगों को जोड़ने हेतु विशेष संपर्क भी किया जाएगा। इसके अन्तर्गत डॉक्टरों, इंजीनियरों, चार्डर्ड अकाउंटेंटों, वकील, पूर्व जजों, गायकों, अभिनेताओं, खिलाड़ियों इत्यादि यानी सभी तरह के सेलेब्रिटी को भी जोड़ेंगे।

 

विहिप महामंत्री ने कहा कि हितचिंतक अभियान की टोलियों का लक्ष्य भारत के एक लाख गांवों तक जाकर एक करोड़ हितचिंतक बनाने का है। इसके अंतर्गत लोगों को विहिप के कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी भी दी जाएगी।

 

हितचिंतक अभियान का उद्देश्य विहिप के विभिन्न आयामों के कार्यों का जन सेवार्थ विस्तार करना है। सेवा कार्यों से अधिकाधिक वंचित समाज को जोड़ना, नई पीढ़ी में सनातन संस्कारों का संचार करना, गौवंशों की रक्षा, सामाजिक समरसता, नारी सशक्तीकरण, कुटुंब प्रबोधन, पर्यावरण संरक्षण व मठ-मंदिरों की सुव्यवस्था के साथ ही हिंदू समाज को संगठित करते हुए उसकी सुरक्षा के संकल्प का भाव जगाना भी अभियान का उद्देश्य है।

 

विश्व हिंदू परिषद मतांतरण और लव जेहाद रोकने और घर वापसी के लिए किस तरह कटिबद्ध है, यह जानकारी भी अभियान के अंतर्गत दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page