औरंगाबाद

उर्दू मध्य विद्यालय बहुआरा में बाल संसद की मासिक बैठक संपन्न

औरंगाबाद। जिले के रजोई बिजोई संकुल संसाधन केंद्र अंतर्गत उर्दू मध्य विद्यालय बहुआरा में बाल संसद की मासिक बैठक बाल संसद प्रभारी शिक्षक राजकुमार प्रसाद गुप्ता की अध्यक्षता में बुलाई गई। बैठक में सर्वप्रथम पिछले कारवाही की समीक्षा की गई तथा विद्यालय के पठन पाठन पर चर्चा की गई। इस अवसर पर शिक्षक राजकुमार प्रसाद गुप्ता ने उपस्थित सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा की जिलापदाधिकारी औरंगाबाद के आदेशानुसार वर्ग 1 से 5 तक के बच्चों का पठन पाठन शीतलहरी को देखते हुए 5 जनवरी तक स्थगित था। अब बिहार सरकार ने कोरोना बीमारी के बढ़ते असर को देखते हुए वर्ग 1 से 8 तक का शिक्षण कार्य अगले 21 जनवरी तक स्थगित रखने का निर्णय लिया गया है। ऐसे में हम सभी के सामने पुनः पठन पाठन की समस्या उत्पन्न होने जा रही है,साथ ही कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचना है। अब तो ये ओमिक्रोन के नाम से और घातक बन कर आई है। ऐसे में हम सभी को सावधानी बरतना जरूरी है।

 

 

सभी को कोरोना गाइडलाइन का पालन सख्ती से करना होगा । मास्क का प्रयोग करना, हाथों को साबुन से धोते रहना तथा सेनेटाइज करते रहना, सामाजिक दूरी बना कर रखना, भीड़ भाड़ वाले जगहों पर जाने से बचना, कोरोना का टीका लेना। साथ ही यह भी जरूरी है कि गांव से जो लोग दूसरे प्रदेशों में कमाने गए हैं वो निश्चित रूप से lockdown लगने के डर से अपने अपने घरों को लौटेंगे। जाहिर सी बात है वे ट्रेन या बस में सफर के दौरान संक्रमित भी हो सकते है। इसलिए जो भी लोग बाहर से आयेंगे उनलोगों को कम से कम एक हफ्ते के लिए होम कोरेंटाइन करना पड़ेगा। अगर वो कोरॉना का वैक्सीन नही लिए हों तो अविलंब टीकाकरण करवा लेंगे। बाल संसद के सभी मंत्रियों एवं सदस्यों द्वारा बताए गए सभी निर्देशों को गांव के सभी लोगों तक पहुंचाना है।

 

 

बाल संसद के सभी मंत्रियों एवं सदस्यों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया की हम सब कल से ही ग्रुप बना कर गांव में प्रत्येक घर में कोरोना संबंधित निर्देशों को उन तक पहुंचाएंगे, तथा सभी को जागरूक करेंगे। उसके बाद बंद होने जा रहे स्कूल के बाद पठन पाठन पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में शिक्षक राजकुमार प्रसाद गुप्ता ने बताया कि पिछली बार की तरह इस बार भी हमलोग ऑनलाइन कक्षा का संचालन करेंगे जिसमें सभी बच्चे भाग लेंगे। साथ ही गूगल रीड एलोंग एप, निहार शांति पाठशाला, ई लॉट्स ऐप सहित अन्य शैक्षणिक ऐप द्वारा भी शिक्षण कार्य करते रहेंगे। अगर किन्ही को परेशानी होगी तो विद्यालय के शिक्षकों को फोन कर अपनी समस्याओं को रखेंगे या फिर विद्यालय में आ कर शिक्षकों को सीधे बता सकते हैं।

 

 

बैठक में प्रधान मंत्री प्रियांशु कुमारी, उपप्रधान मंत्री रोहित कुमार, शिक्षा मंत्री मालती कुमारी , उप शिक्षा मंत्री संजीव कुमार, स्वच्छता एवं सफाई मंत्री डोमा कुमार, उप स्वच्छता एवं सफाई मंत्री साजीया परवीन , पुस्तकालय एवं विज्ञान मंत्री आफरीन खातून , उप पुस्तकालय एवं विज्ञान मंत्री रोशन राज, संस्कृति एवं खेल मंत्री शीला कुमारी, उप संस्कृति और खेल मंत्री रोशन कुमार, जल एवं कृषि मंत्री रवि कुमार, उप जल एवं कृषि मंत्री रूपा कुमारी, मध्यान भोजन मंत्री खुशबू कुमारी तथा उप मध्यान्ह भोजन मंत्री उत्तम कुमार सहित विद्यालय के प्रधानाध्यापक धर्मेंद्र कुमार सिंह, शिक्षक मोहम्मद कलामुद्दीन , तरन्नुम परवीन, मोहम्मद कुनैन, विजय पासवान , सरफराज आलम , मोहम्मद शाहजहां आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page