औरंगाबाद

बोर्ड परीक्षा की तैयारी हेतु ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन प्रैक्टिस सेशन मुहैया कराएगा हरिओम कॉमर्स, ‘ई-लर्निंग’ मंच का शुभारंभ

औरंगाबाद। जिले के ख्यातिलब्ध कॉमर्स कोचिंग संस्थान ‘हरिओम कॉमर्स’ ने कोरोना के बढ़ते प्रभाव को लेकर शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने से होने वाले शैक्षणिक नुकसान को कम करने एवं बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र छात्राओं के लिए एडवांस प्रघौगिकी आधारित ‘ई-लर्निंग’ मंच की शुरुआत की गई।

 

 

संस्थान के निदेशक अनिल कुमार सिंह ने बताया कि बिहार बोर्ड द्वारा प्रायोजित बोर्ड परीक्षा अगले महीने होने वाली है ऐसे में शैक्षणिक संस्थान बन्द होने से छात्रों को काफी मशक्कत के सामना करना पड़ रहा है, तथा उनकी तैयारी अवरुद्ध हो रही थी, जिसके मध्यनजर हरिओम कॉमर्स द्वारा बोर्ड परीक्षा पैटर्न पर आधारित प्रैक्टिस सेट को ऑनलाइन करने एवं परीक्षा सम्बन्धी किसी प्रकार की गाइडलाइन्स एवम सलाह के लिए ‘ई-लर्निंग’ मंच की शुरुआत की गई।

 

विदित हो कि हरिओम कॉमर्स द्वारा 21 दिसम्बर से छात्रों की तैयारी के लिए अभ्यास परीक्षण श्रृंखला की शुरुआत की गई थी, जिसके प्रथम चरण की समाप्ति के बाद आज ऑनलाइन रिजल्ट की घोषणा की गई। छात्र हरिओम कॉमर्स की वेबसाइट पर जाकर अपना परीक्षा फल चेक कर सकते हैं तथा स्वतः परीक्षण कर पूर्व में हुई त्रुटियों को सुधारकर आगे की कड़ी में कैसे बेहतर किया जा सकता है इसकी रणनीति तय करेंगे। कोविड 19 के खतरे को देखते हुए शैक्षणिक संस्थानों के बन्द होने के ठीक बाद संस्थान द्वारा ई-एक्टिविटी गतिविधियों को योजनाबद्ध तरीके से अपने स्वयं के लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम के साथ बड़े पैमाने पर आईसीटी संसाधनों का भरपूर प्रयोग किया जा रहा है।

 

 

छात्रों को ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन प्रैक्टिस सेशन की सुविधाएं मुहैया कराई जा रही है जिसके जरिये छात्र अपनी शैक्षिक जिज्ञासाओं का समाधान करने के साथ साथ यह अंदाजा भी लगा सकते हैं कि वे कितना सीख रहे हैं। अनिल सिंह के मुताबिक जल्द ही छात्रों मोबाइल एप्पलीकेशन के माध्यम से इंटरेक्टिव सेशन दिया जाएगा जिसकी शुरुआत आज से की गई है।

 

पूर्व से चल रहे ऑफलाइन प्रैक्टिस सेट का रिजल्ट ऑनलाइन घोषित होने से छात्रों में बहुत खुशी है। संस्थान के आयुष कुमार, रिया सिंह , कृति सिन्हा, अदिति, रिया और ऋचा शर्मा ने शानदार प्रदर्शन किया।
संस्थान द्वारा छात्रों को अंकों के दबाब से तनावग्रस्त होने के बजाय सीमित संसाधनों के प्रयोग से बोर्ड परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने की रणनीति पर चर्चा की गई। परीक्षा हॉल में तनावमुक्त रहने एवम समय प्रबंधन के बारे में विस्तार से बताया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page