औरंगाबाद

डीपीएम ने अस्पताल की व्यवस्था का लिया जायजा, इमरजेंसी सेवा की अलग होगी व्यवस्था,खुलेगा मुख्य द्वार

औरंगाबाद। सदर अस्पताल में दुर्घटनाग्रस्त एवं आकस्मिक इलाज के लिए व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के आलोक में जिला कार्यक्रम प्रबंधक द्वारा सदर अस्पताल, औरंगाबाद का भ्रमण किया गया. इस क्रम में अस्पताल प्रबंधक एवं सदर अस्पताल के नए भवन निर्माण हेतु कार्यरत संवेदक प्रतिनिधि के साथ बैठक की गई.

 

बैठक के दौरान दौरान जिला कार्यक्रम प्रबंधक द्वारा निर्देशित किया गया कि तत्काल जिस भवन में इमरजेंसी सेवा संचालित हो रही है वहीं कार्य होता रहेगा. साथ ही प्रसव वार्ड के नीचे जिस भवन में एसएनसीयू में भर्ती बच्चों के परिजनों को रहने के लिए स्थान निर्धारित किया गया है उस भवन में एक माह के अंदर इमरजेंसी सेवा संचालित कराने हेतु आवश्यक व्यवस्था कराया जाए.

 

इमरजेंसी में चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ एवं अन्य सहयोगी कर्मियों के बैठने एवं रात्रि कालीन ड्यूटी के लिए आवश्यक सुविधाओं के साथ-साथ ड्रेसिंग के लिए माइनर ओटी, ऑक्सीजन दवा इत्यादि की यथोचित व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु निर्देशित किया गया.

 

वर्तमान में इमरजेंसी रोगियों को अस्पताल परिसर में पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ऐसी स्थिति में संवेदक प्रतिनिधि को निर्देशित किया गया कि पूर्व की भांति मुख्य द्वार को खुलवा दिया जाए.

 

इमरजेंसी व्यवस्था में सुधार के लिए दिए गए निर्देश के आलोक में यथाशीघ्र कार्य कराने हेतु अस्पताल प्रबंधक एवं संवेदक प्रतिनिधि द्वारा प्रतिबद्धता व्यक्त की गई.सदर अस्पताल में आईसीयू के संचालन का जायजा लिया गया जिसके क्रम में डॉ जन्मेजय कुमार द्वारा 3 मरीजों को चिकित्सा सेवायें दी जा रही थी. साथ ही साथ दवाइयों की व्यवस्था हेतु उनके स्तर से कार्य किए जा रहे थे.

 

अस्पताल परिसर में सफाई सुनिश्चित रखने हेतु अस्पताल प्रबंधक एवं आउटसोर्सिंग प्रतिनिधि को आवश्यक निर्देश दिए गए.इस क्रम में कोविड-19 वैक्सीनेशन एवं आरटीपीसीआर जांच केंद्र का भ्रमण किया गया जहां सुचारू रूप से कार्य संपादित हो रहे थे.

 

इस दौरान वरीय जदयू नेता प्रभात रंजन, जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट उपेंद्र कुमार चौबे अस्पताल प्रबंधक हेमंत राजन, संवेदक प्रतिनिधि धर्मेंद्र कुमार तिवारी, लेखापाल सुमित कुमार सहित अस्पताल के चिकित्सक एवं कर्मी उपस्थित रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page