औरंगाबाद

डीपीएम ने की पहल,खुला तीन माह बाद सदर अस्पताल का मुख्य द्वार, सदर अस्पताल में चल रहा है निर्माण कार्य

औरंगाबाद। पिछले लगभग 3 महीने से बंद पड़े औरंगाबाद सदर अस्पताल के मेन गेट को आज मरीजों के लिए खोल दिया गया। दरअसल अस्पताल परिसर में 9 मंजिला ओपीडी एवं आईपीडी, पांच मंजिला शिशु एवं मदर वार्ड एवं दो मंजिला किचन और लॉन्ड्री के चल रहे निर्माण कार्य की वजह से जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल के निर्देश पर प्रबंधन ने ऐहतियातन इस गेट को इसलिए बन्द कर दिया था।क्योंकि मरीजों के साथ साथ कई अन्य लोगों की गाड़ियों की पार्किंग की वजह से कार्य प्रभावित हो रहा था।

 

 

अस्प्ताल में चल रहे निर्माण कार्य को लेकर और मरीजों के आने जाने के लिए अस्प्ताल परिसर के पीछे एक वैकल्पिक रास्ता बनाया गया था।परंतु इस रास्ते से होकर मरीज इमरजेंसी वार्ड जहां ओपीडी के मरीज भी देखे जा रहे थे उन्हें आने जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।जिसका विरोध अक्सर होता रहता था। इतना ही नही हल्की बारिश होने के बाद अस्प्ताल पैदल आना भी बेहद ही परेशानी की स्थिति पैदा कर देती थी। स्थिति ऐसी हो जाती थी कि काफी मरीजों को कंधे पर टांग के लाने को परिज़ह मजबूर हो गए थे।

 

 

मरीजों की परेशानियों को देखते हुए डीपीएम डॉ कुमार मनोज ने बुधवार को भवन निर्माण कार्य से जुड़े संवेदक के साथ बैठक की और कार्य की प्रगति की जानकारी प्राप्त की। संवेदक ने कार्य मे कुछ विलम्ब होने की बात कही जिसको देखते हुए डीपीएम ने सदर अस्पताल के मुख्य द्वार को खोलने का निर्णय लिया और शुक्रवार को उसे खोला गया।परिसर में चल रहे निर्माण कार्य प्रभावित न हो उसके लिए डीपीएम ने अस्पताल के गार्ड को निर्देश दिया इस प्रवेश द्वार से उन्ही मरीजों के वाहन अंदर प्रवेश कर सकते हैं जो पैदल चलने के लायक नही होंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page