औरंगाबाद

रक्तदान कर अभाविप ने मनाई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं पुण्यतिथि

औरंगाबाद। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिसर ने रविवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनाया। इस अवसर पर अभाविप कार्यकर्ताओं ने सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में स्वैच्छिक रक्तदान कर नेताजी को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। अभाविप के नगर मंत्री कुणाल सिंह की अध्यक्षता 8 युवाओं ने रक्तदान कर रक्त की कमी से जूझ रहे लोगों के जीवन को बचाने के प्रति संकल्पित हुए।

 

 

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य आशिका कुमारी ने कहा कि आज हमें खून देकर आजादी तो नहीं चाहिए लेकिन समाज में सकारात्मक बदलाव के लिए अभी भी त्याग और समर्पण की जरूरत है। आशिका ने लोगों से जागरूक होकर रक्तदान करने की अपील की और कहा कि रक्तदान से मनुष्य का शरीर निरोग और स्वस्थ रहता है। ऐसे तो प्रत्येक तीन माह पर कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है लेकिन मनुष्य को वर्ष में एक बार अवश्य रक्तदान करना चाहिए। क्योंकि रक्तदान से शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया पहले की अपेक्षा स्वस्थ होती है और रक्तदान शरीर के रक्त को पुनर्जीवित करने में सक्षम होता है। यह शरीर से अतिरिक्त आयरन निकालने का बेहतरीन तरीका है।

 

पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सतीश कुमार,अभय कुमार आदि ने कहा कि नेता जी ने अपना जीवन देश के नाम समर्पित कर दिया था। उनके पराक्रम से घबराई अंग्रेजी हुकूमत देश छोड़ने पर विवश हो गई थी। उनके नेतृत्व में आजाद हिंद फौज ने अंग्रेजी हुकूमत की नींव हिला दी थी। इस अवसर पर आशिका सिंह ,अभय कुमार ,प्रभात कुमार, कुणाल कुमार सिंह, कुणाल सम्राट, विवेक कुमार, सूरज कुमार, रोहित, निक्कू सिन्हा ,रोहित तिवारी, विशाल रॉय ने रक्तदान कर इस महादान में अपना योगदान दिया।।कहा कि समाज में जब भी ऐसे कार्य करने का अवसर मिलेगा हम युवा इसके लिए आगे रहेंगे।।देश और समाज के लिए युवाओं को आगे आकर ऐसे समय मे अपनी भूमिका निभानी चाहिए।इस अवसर पर ऋषि राज,हनी,ईशा,आँसू सहित दर्जनों कार्यकर्ता आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page