औरंगाबाद

इंटर एवं मैट्रिक परीक्षा के लिए वीक्षकों की ट्रेनिंग प्रखंड मुख्यालयों में कराने की मांग

औरंगाबाद। बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ (गोप गुट)’मूल’ के जिला संयोजक सुरेन्द्र सिंह ने मंगलवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर औरंगाबाद के जिलाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारी से इन्टर एवं मैट्रिक परीक्षा के लिए वीक्षकों की ट्रेनिंग प्रखण्ड मुख्यालयों या हद से हद अनुमंडल मुख्यालयों में ही करवाने की मांग की है ।

 

 

उन्होंने कहा कि इस भयानक ठंढक में शिक्षकों को ट्रेनिंग के नाम पर जिला मुख्यालयों में बुलाना उनके लिए एक सजा के समान होगी जो कहीं से भी न्यायोचित नहीं होगा । उन्होंने मौजूदा कोरोना संक्रमण के संभावित खतरों के मद्देनजर भी सभी प्रखंडों से एक जगह पर जिला मुख्यालय में जमावड़ा लगवाना अतर्किक एवं नुकशनादेह बताया है क्योंकि इससे कोरोना के प्रसार का खतरा बढ़ जाएगा ।

 

उन्होंने जिला के वरीय पदाधिकारियों से आग्रह किया है कि विक्षण-कार्य के लिए कुछ अपवादों को छोड़कर शिक्षकों की ड्यूटी भी उसी प्रखण्ड से लगायी जाए, जिस प्रखंड में परीक्षा होनी है । अक्सर ऐसा देखा जाता है कि हर वर्ष दाऊदनगर के कुछ शिक्षकों की ड्यूटी ओबरा में लगा दी जाती है जबकि ओबरा के कुछ शिक्षकों की ड्यूटी दाऊदनगर में लग जाती है ।

 

 

शिक्षकों को इस तरह के अनावश्यक परेशानियों से बचाया जाना चाहिए ताकि वे पूरी क्षमता और एकाग्रता के साथ शिक्षण कार्य कर सकें ।
अत: उक्त परिस्थितियों के मद्देनजर उन्होंने शिक्षकों को उनके प्रखंड मुख्यालयों या अधिक से अधिक अनुमंडल मुख्यालयों में ही विक्षण कार्य की ड्यूटी में लगाने या ट्रेनिंग करवाने की मांग की है ताकि शिक्षकों को अनावश्यक परेशानियों से बचाया जा सके तथा वार्षिक परीक्षा जैसे महत्वपूर्ण कार्यों का निष्पादन भी सुचारू ढंग से हो सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page