औरंगाबाद

मध निषेध बिहार पटना की टीम ने एक शातिर शराब कारोबारी को नबीनगर से पकड़ा, बिहार झारखंड के 12 थानों में उसके विरुद्ध मामले हैं दर्ज

औरंगाबाद नबीनगर के सोनबरसा निवासी तपेश्वर सिंह के पुत्र विजय सिंह को पटना मध निषेध इकाई की पुलिस ने गुरुवार को उसके ही गांव से पकड़ा है और हिरासत में लेकर पटना चली गई है। इस अभियान का नेतृत्व मध निषेध बिहार के डीएसपी सिंधु शेखर सिंह कर रहे थे।इनके साथ इंस्पेक्टर नवीन सिंह, सहायक अवर निरीक्षक इंदु कमल झा एवं सिपाही अब्दुल कलाम मौजूद रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त विजय सिंह पर बिहार झारखंड के विभिन्न थानों में उत्पाद से संबंधित 12 मामले दर्ज हैं और वह सभी मामलों में फरार चल रहा था। जिसकी गिरफ्तारी गुरुवार को गुप्त सूचना के आधार पर की गई है।

 

 

बताया जाता है कि गिरफ्तार अभियुक्त बिहार से लेकर झारखण्ड तक अवैध शराब व्यवसाय का एक बड़ा नाम था जो वर्ष 2021 के महज सात माह में शराब कारोबार में अपना साम्राज्य स्थापित कर चुका था और वह मध निषेध विभाग के लिए सिरदर्द बन गया था। इसकी गिरफ्तारी बिहार झारखण्ड के 12 थानों की पुलिस के लिए एक चुनौती बन चुकी थी।क्योंकि इसने काफी कम दिनों में  पैमाने पर शराब के परिवहन, निर्माण एवं वितरण का कार्य करता था।मगर बार बार पुलिस को चकमा देकर फरार हो जाता था।लेकिन गुप्त सूचना के आधार पर गुरुवार को उसे गिरफ्तार किया गया है।

 

 

गिरफ्तार शराब कारोबारी पर वैशाली औद्योगिक थाना, भोजपुर के पीरो थाना, अरवल के कलेर थाना, सारण के दरियापुर थाना, गया के मुफस्सिल थाना, पटना के रानी तालाब थाना, गया के आमस थाना, अरवल थाना, पलामू के छतरपुर थाना, पलामू के रेहला थाना में अप्रथमिक अभियुक्त, पलामू के छतरपुर थाना में अप्राथमिकी अभियुक्त के रूप में मामले दर्ज है। यह सभी मामले वर्ष 2021 के अप्रैल से लेकर वर्ष 2021 के अक्टूबर माह तक के हैं। इसकी गिरफ्तारी से पुलिस को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page