औरंगाबाद

कोचिंग शिक्षक शंभू कुमार मौत मामले में नामजद बने अभियुक्त अंग्रेजी शिक्षक भरत की मां ने एसपी को दिया आवेदन,बताया बेटे को निर्दोष

औरंगाबाद। नगर थाना क्षेत्र के बराटपुर स्थित एक मकान के कमरे से बीते रविवार 23 जनवरी को फंदे से लटके अंग्रेजी के शिक्षक शंभु कुमार के शव मिलने के के बाद इस मामले में शहर के ही दो कोचिंग संचालकों पर मृतक के भाई ने 24 जनवरी को नगर थाना में हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज कराई गई प्राथमिकी में नामजद बने हत्यारोपी भरत कुमार की मां सुनीता देवी ने अपने बेटे को निर्दोष बताते हुए एसपी को एक आवेदन दिया है और न्याय की गुहार लगाई है।

 

 

एसपी को दिए आवेदन में सुनीता देवी ने बताया है कि उनका पुत्र भरत कुमार दोनों पैरों से विकलांग है और वह अंग्रेजी की कोचिंग का संचालन करता है। उसकी विकलांगता प्रतिशत 85 है। 24 जनवरी को मृतक शिक्षक शंभू कुमार के भाई धीरज कुमार द्वारा नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है जिसमें भरत कोचिंग का नाम दिया गया है जिसका संचालन उनका बेटा करता है।आवेदिका ने बताया कि उनके बेटे का इस हत्या या आत्महत्या से कहीं कोई वास्ता नहीं है और बेवजह उसका नाम एक साजिश के तहत इस कांड में डाला गया है।

 

 

उन्होंने बताया है कि उनका बेटा चार चक्के वाली स्कूटी से एक जगह से दूसरी जगह आवागमन करता है और वह इतना सक्षम भी नहीं है कि अपना निजी कार्य भी पूरी तरह से कर सके। क्योंकि उसके अधिकतर कार्य को परिवार के लोग हैं करते हैं। शारीरिक अक्षमता के बाद भी उक्त कांड में उसका नाम डालना एक गहरी साजिश है। सुनीता देवी ने एसपी से निष्पक्ष जांच कर उचित कार्रवाई की मांग की है। ताकि उनके दिव्यांग बेटे को राहत मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page