औरंगाबाद

छात्र हित का मुद्दा बनाकर बुलाया गया आज का बंदी पूर्णत: राजनैतिक षड्यंत्र, हुआ विफल-पुरुषोत्तम कुमार सिंह

औरंगाबाद। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सह वर्तमान प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पुरुषोत्तम कुमार सिंह ने कहा कि छात्रों के मुद्दे को लेकर आज विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के द्वारा राजनीतिकरण करते हुए जो बंदी बुलाई गई वह पूर्णतः एक षड्यंत्र था जिसमे छात्रों को आगे लाकर सरकार को बदनाम करने की साजिश की जा रही थी साथ ही विपक्ष पार्टियों का मंसूबा था की छात्रों की भीड़ का सहारा लेकर अपने गुर्गों द्वारा आपत्तिजनक एवम उपद्रवी कार्य करा इसे हिंसक रूप प्रदान किया जाए जिससे पूरे देश मे आक्रोश हो जाये।

 

 

इस तरह की घिनौनी षड्यंत्र करके राजनीतिक पार्टियां अपनी स्वार्थय की रोटी सेकना चाहती थी किंतु जनता और छात्रों ने समर्थन न देकर इस साजिश को पूरी तरह विफल कर दिया।बंदी पूरी तरह विफल रहा छात्रों ने इस बंदी में अपना कोई समर्थन नहीं दिया क्योंकि छात्रों की मांग रेल मंत्री ने पहले ही पूरा करने का आश्वासन दिया है।बीते दिन आरआरबी-एनटीपीसी परीक्षा मामले को लेकर छात्रों में आक्रोष एवम उनके मांगों को देखते हुए छात्रों की मांग को मानते हुए रेल मंत्रालय ने आरआरबी से स्पष्टीकरण मांगा एवम इस मामले में सुधार हेतु आश्वासन दिया गया है।

 

 

रेल मंत्री ने कहा था कि हमें एक समाधान खोजना होगा कि जिन लोगों को शॉर्टलिस्ट किया गया है, वे पीड़ित न हों, लेकिन जिन्हें शिकायतें हैं, उन्हें भी संबोधित किया जाएगा. उन्होंने कहा, राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने बहुत संवेदनशीलता के साथ काम किया है. सारे छात्र बंधुओं से अनुरोध करूंगा कि वे अपने मुद्दों को औपचारिक तौर पर रखें, हम संवेदनशीलता के साथ विचार करेंगे. हम इस मुद्दे का जल्द से जल्द हल चाहते हैं, हम विलंब नहीं करना चाहते. कमेटी को 4 मार्च तक रिपोर्ट देनी है.फिर भी इसके बावजूद ऐसी साजिश करना बेहद निंदनीय है।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page