औरंगाबाद

देश के प्रसिद्ध तबला वादक औरंगाबाद के रामध्यान गुप्ता को यूट्यूब ने उनके यूट्यूब चैनल के लिए दिया गोल्डन डिस्क

औरंगाबाद। प्रसिद्ध तबला वादक रामध्यान गुप्ता को अपने यूट्यूब चैनल पर 1 मिलियन सब्सक्रिप्शन होने पर यूट्यूब द्वारा गोल्डन डिस्क प्रदान किया गया है। जिसे लेकर उन्होंने सभी श्रोताओं एवं अपने शुभचिंतकों के प्रति आभार प्रकट किया है।रामदयाल गुप्ता औरंगाबाद के बारुण प्रखंड के सुंदरगंज के मुख्तियारपुर गांव के निवासी है।

उन्होंने बताया कि माता-पिता, गुरुजनों एवं मुझसे अपार स्नेह रखने वाले शुभचिंतकों के आशीर्वाद से यह मुकाम हासिल हो सका है। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि मधुर संगीत से मन की शांति मिलती है। इसे लोगों को अपने जीवन में श्रवण करने की जरूरत है।

संगीत श्रावण द्वारा मानसिक तनाव एवं अवसाद को दूर किया जा सकता है। खास करके औरंगाबाद जिले में कई ऐसे कलाकार हैं। जो की तेजी से उभर कर जिले का नाम रोशन कर रहे हैं। वर्तमान समय में रामध्यान गुप्ता जी के यूट्यूब चैनल को 138 देश के द्वारा देखा एवं सुना जाता है।

उनका प्रमुख उद्देश्य है कि जिले में छुपी हुई प्रतिभावान कलाकार को बाहर निकाल कर ऊंचे मुकाम तक पहुंचाना जिसे लेकर उन्होंने औरंगाबाद के साथ साथ मुंबई में भी लाइव भजन रिकॉर्डिंग स्टूडियो भी खोल रखा है।

ताकि उभरते कलाकारों को भरपूर मदद मिल सके और उनके द्वारा समय-समय पर अपने यूट्यूब चैनल पर नए-नए कलाकारों को भजन रिकॉर्ड कर अपने चैनल से प्रसारित कर कलाकारों का हौसला बढ़ाया जाता है।जो कि जिले के लिए गौरव की बात है।

उनकी महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए सुप्रसिद्ध भजन गायक व भजन सम्राट अनूप जलोटा ने मुंबई में उन्हे हार्दिक बधाईव अनन्त शुभकामनाओं सहित आशीर्वाद दिया है साथ भजन सम्राट अनूप जलोटा जी के परम शिष्यों में से एक सुप्रसिद्ध भजन गायक सत्येंद्र पाठक जी ने भी अपनी ओर से उन्हें ढ़ेर सारी बधाई व शुभकामना दिया है। मशहूर भजन गायक सनोज सागर के साथ सभी संगीत प्रेमियों ने बधाई दी है।

रामध्यान गुप्ता जी की ख़ासियत यह है की वो जब तबला बजाते हैं तो बड़े ही शिद्द्त के साथ एकदम मस्त मौला होकर और हमेशा मुस्कुराते हुए बजाते हैं। यही वजह है कि लोग उनके शानदार तबले वादन को देखकर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page