औरंगाबाद

आम बजट में प्रधानमंत्री ई विद्या योजना महामारी के कारण पटरी से उतरी शिक्षा व्यवस्था को वापस सुदृढ़ करने की दिशा में बड़ा कदम-उदय

औरंगाबाद। भारत के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जे द्वारा प्रस्तुत आम बजट में शिक्षा जगत,रोजगार,कौशल विकास व उधमिता विकास के क्षेत्र में उपयोगी कदम उठाया है।सबसे पहले महामारी के दौरान बदतर हालत में पहुंची शिक्षा को प्रभावी बनाने हेतु पीएम ई विद्या योजना निश्चित रूप से एक बड़ी कदम होगी।

 

 

डीटीएच प्लेटफार्म पर एक चैनल एक क्लास योजना के अंतर्गत 200 चैनलों को और विस्तारित किया जाएगा।1 से 12वीं तक क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा मुहैया कराना भी चमत्कारी साबित हो सकता है।इस डिजिटल युग में डिजिटल यूनिवर्सिटी की स्थापना कर युवाओं को बेहतर डिजिटल टूल्स के लिए तैयार किया जाएगा।

 

 

शिक्षकों को भी सभी भारतीय भधाओं में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने हेतु ई -कंटेंट उपलब्ध करवाना भी बच्चों की लर्निंग को सुगम बनाएंगे।देश के पांच शीर्ष संस्थानों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाना भी एक बढ़िया पहल है जिसका देखरेख एनसीईआरटी करेगी।कौशल विकास कार्यक्रम को नए सिरे से नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन प्रोग्राम उद्योगों के अनुरूप कराया जाना अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा।

 

2 लाख आंगनबाड़ी केंद्रों को अपग्रेड करना नई शिक्षा नीति में निहित सरकार की रणनीति का हिस्सा है।औधोगिक प्रशिक्षण केंद्र का भी अपग्रेडेशन भी आत्मनिर्भर भारत,मेक इन इंडिया व नए स्टार्टअप को काफी ताकत देगा।इस प्रकार शिक्षा ,रोजगार व कौशल विकास को यह बजट सीधे सीधे एड्रेस कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page