औरंगाबाद

जिले के सभी प्रखंडों के चयनित 30 ग्राम पंचायतों में ठोस, तरल अपशिष्ट प्रबंधन के क्रियान्वयन को मिली स्वीकृति

औरंगाबाद। समाहरणालय के सभाकक्ष में जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल की अध्यक्षता में जिला, जल एवं स्वच्छता समिति की बैठक आहूत की गई। बैठक में औरंगाबाद जिला अंतर्गत सभी प्रखंडों से चयनित 30 ग्राम पंचायतों में ठोस, तरल एवं अपशिष्ट प्रबंधन के क्रियान्वयन की स्वीकृति प्रदान की गई बैठक में स्वीकृत सभी पंचायतों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के कार्य के लिए प्रत्येक वार्ड में एक सुरक्षाकर्मी एवं प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर से एक-एक स्वच्छता पर्यवेक्षक की मदद से पंचायतों को कचरा मुक्त करने का कार्य किया जाएगा।

 

 

 

तरल,अपशिष्ट प्रबंधन के लिए सोख्ता, गड्ढा, नालियों का चेंबर, वाटर स्टेबलाइजेशन पौड आदि का निर्माण किया जाना है। जिसके लिए मनरेगा से अभिसरण भी किया जाएगा। वार्ड एवं पंचायत स्तर पर वृहद जन जागरूकता अभियान चलाकर समुदाय को ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के प्रति जागरूक किया जाएगा।

 

 

समुदाय को स्रोत पर अपशिष्ट का सूखे एवं गिले भाग में अलग अलग करने एवं घर से निकलने वाले अधिकतम अपशिष्ट को घरेलू स्तर पर निपटान हेतु उत्प्रेरित किया जाएगा। साथ ही प्रत्येक घरों के लिए दो कूड़ेदान का वितरण किया जाएगा। जिससे अपशिष्टों का पृथकरण किया जा सके एवं घरेलू स्तर पर जैविक खाद निर्माण एवं ठोस अपशिष्टों के पुनरुपयोग हेतु प्रेरित किया जा सके।

 

 

बैठक में सदस्य के रूप में जिला पंचायती राज पदाधिकारी, निदेशक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, जिला कृषि पदाधिकारी, सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, आईसीडीएस मनरेगा के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी,जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक, लोहिया स्वच्छता समिति के जिला समन्वय एवं जिला सलाहकार आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page