औरंगाबाद

पादरी से संघ प्रचारक बने रॉबर्ट उर्फ डा. सुमन कुमार क्षेत्र संगठन मंत्री ने दी कार्यकर्ताओ को संगठन मंत्र

औरंगाबाद। हिन्दू जागरण मंच के क्षेत्र संगठन मंत्री पादरी से प्रचारक बने डॉ सुमन कुमार का वीर शिवाजी महाराज की जयंती के अवसर पर आगमन महामंत्री शशि भूषण सिंह के आवास पर हुआ। शिवा जी महाराज के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर बैठक का शुभारम्भ किया गया। संघ के सदस्यों को संबोधित करते हुये उन्होंने बताया कि वे वर्ष 2015 से ही हिन्दू जागरण मंच के बिहार- झारखंड के क्षेत्र संगठन मंत्री हैं और पूरे बिहार में भी अब संगठन का अच्छा काम शुरू हो गया है।

 

पहले स्वयं के बारे में बताते हुए उन्होंने अपना पुराना नाम और काम का जिक्र करते हुए कहाआ मतांतरण के काम में लगे पादरी राबर्ट सॉलोमन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा और संघ के अधिकारियों से मिले तो उनके प्रेम से इतने प्रभावित हुए कि स्वयं मतांतरित होकर डा. सुमन कुमार संघ के प्रचारक बन गए।आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में आर्गेनिक रसायन में रिसर्च करने के दौरान ही वे पादरी बन चुके थे और मतांतरण के काम से इनका भारत के तमिलनाडु की राजधानी चेन्‍नई में आना-जाना 1982 से शुरू था।सबसे पहले बुंदेलखंड के उरई जिला में संघ के संपर्क में आए। जहां मैंने आवास रखा था वहीं नजदीक में संघ की शाखा लगती थी। मैं शाखा पर जाने लगा।

 

 

संघ की शाखा सभी वर्ग के लोगों के लिए शुरू से ही खुला है। स्वयंसेवकों के कामों को नजदीक से देखा। उस समय के उत्तर प्रदेश के क्षेत्र प्रचारक जयगोपालजी के संपर्क में आया। उनका बौद्धिक सुना। उसी दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के संगठन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह जो तत्कालीन उत्तर प्रदेश में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं के संपर्क में आया। फिर संघ के प्रचारक ओंकार भावे जी, जो विहिप के संगठन मंत्री भी थे से संपर्क हुआ। मेरे सामने भाषा की समस्या थी। हिंदी आती नहीं थी। ओंकार भावे ने संघ की अंग्रेजी में पुस्तकें उपलब्ध कराई। स्वामी विवेकानंद की पुस्तकों को पढ़ा। फिर संघ के कामों को देखने के बाद मैंने तीन माह में ही मिशनरी को अपनी रिपोर्ट भेज दी।

 

 

अपनी रिपोर्ट में लिखा, जिनका मतांतरण कराते हैं उनका हो जाता है राष्ट्रांतरण : बतौर सुमन कुमार, भारत में भेजने से पहले मुझे बताया गया था कि संघ के लोग चर्च को तोड़ देते हैं। बाइबिल जला देते हैं। पादरियों पर हमला करते हैं। परंतु मुझे ऐसा कुछ नहीं दिखा। मिशनरियों को भेजे गए अपनी रिपोर्ट में मैंने लिखा की जिनका आप मतांतरण कराते हैं उनका राष्ट्रांतरण हो जाता है। ये लोग पादरियों को परेशान नहीं करते हैं। संघ विध्वंसक काम नहीं करता है। ये लोग भारत को कर्म भूमि, देव भूमि मानते हैं। ईसा मसीह का प्रचार करो परंतु मतांतरण मत करो। भारत में रहना है तो भारत को समझिए, भारत को जानिये और भारतीयता में रंगिये।

 

संगठनकर्ताओं को शिवा जी के कार्य शैली से अवगत कराते हुए उनके बारे में बताया कि छत्रपति शिवाजी जी भारत के एक महान राजा एवं रणनीतिकार थे जिन्होंने 1674 ई. में पश्चिम भारत में मराठा साम्राज्य की नींव रखी। इसके लिए उन्होंने मुगल साम्राज्य के शासक औरंगज़ेब से संघर्ष किया। सन् 1674 में रायगढ़ में उनका राज्याभिषेक हुआ और वह “छत्रपति” बने। छत्रपती शिवाजी महाराज ने अपनी अनुशासित सेना एवं सुसंगठित प्रशासनिक इकाइयों कि सहायता से एक योग्य एवं प्रगतिशील प्रशासन प्रदान किया। उन्होंने समर-विद्या में अनेक नवाचार किए तथा छापामार युद्ध (guerilla warfare) की नयी शैली (शिवसूत्र) विकसित की। उन्होंने प्राचीन हिन्दू राजनीतिक प्रथाओं तथा दरबारी शिष्टाचारों को पुनर्जीवित किया।संगठन के उद्देश्यों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि संगठन का लक्ष्य भारत माता की जय हो है।

 

 

स्वयं के लिए जीने से ऊपर उठकर राष्ट्र के लिए जिना लक्ष्य बनाए तभी संगठन का विकास होगा। दुनिया मे मात्र भारत की ही भूमि को देव भूमि कहा गया है।इस अवसर पर प्रदेश संगठन मंत्री यशवंत सिंह ने कहा संगठन ही शक्ति है और संगठन ही परिवार है । इसी में जीना और इसी के लिए जिना कार्यकर्त्ताओ का उद्देश्य होना चाहिए। जहां भी हिन्दू उपेक्षित होगा, अपमानित होगा उसके सम्मान के लिए हिन्दू जागरण मंच खड़ा रहेगा। आये दिन हिन्दू जीवन पध्दति को खंड खंड करने का प्रयास किया जा रहा है । पूजा परम्परा को विधि व्यवस्था के नाम पर शाषण- प्रशाशन द्वारा अवरोध पहुचाया जा रहा है जिसे बर्दाश्त नही किया जाएगा। जल्द ही संगठन की एक शिष्टमंडल राज्यपाल से मिलकर इन सब बातो से अवगत कराया जाएगा।

 

 

कार्यकर्त्ताओ के उद्बोधन से पूर्व औरंगाबाद जिले के निवासी और संगठन के प्रदेश महामंत्री अधिवक्ता बीरेन्द्र कुमार जी ने जिले में पहली आगमन पर सुमन कुमार जी को अंग वस्त्र भेट कर समानित एवम स्वागत किया।
बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष प्रभु दयाल और संचालन महामंत्री शशि भूषण सिंह ने किया। संगठन विस्तार करते हुए अधिवक्ता नवीन कुमार सिंह को जिला संरक्षक, विक्रम कुमार सिन्हा एवम मिथिलेश राम को जिला मंत्री, दीपक कुमार को युवा वाहनी का नगर संयोजक और गौतम कुमार विक्की को सह संयोजक की जिमेवारी दी गयी।बैठक में जिला विधि प्रमुख अंजनी कुमार सिंह, जिला मंत्री राजीव सिंह, अविनाश कुमार, संजीत मेहता, मीडिया प्रमुख आदित्य श्रीवास्तव के साथ दर्जनों कार्यकर्ता सम्मलित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page