औरंगाबाद

दाउदनगर में कायस्थ महासभा का हुआ गठन, बबलू श्रीवास्तव बने अध्यक्ष, दाउदनगर में चित्रगुप्त सभागार के निर्माण का लिया गया निर्णय, कायस्थ महिलाओं का भी शीघ्र बनेगा संगठन

कायस्थ समाज के दाउदनगर अनुमंडल पदाधिकारियों का चुनाव
दाउदनगर के संगठन को जीकेसी से मान्यता

औरंगाबाद। औरंगाबाद जिले के दाउदनगर अनुमंडल मुख्यालय में चित्रगुप्त सभागार का निर्माण कराया जाएगा और कायस्थों के शैक्षणिक, आर्थिक और सांस्कृतिक प्रगति के लिए अपेक्षित कदम उठाए जाएंगे । इस आशय का निर्णय रविवार की शाम दाउदनगर अनुमंडल मुख्यालय में अमित सिन्हा के आवास पर कायस्थ समाज की हुई महत्वपूर्ण बैठक में लिया गया। इस अवसर पर ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सह राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी कमल किशोर ने कहा कि कायस्थों को आज राजनीतिक रूप से नजरअंदाज किया जा रहा है और रोजगार के अवसरों में भी उनके हितों की उपेक्षा की जा रही है। जबकि देश की आजादी की लड़ाई के साथ – साथ प्रशासनिक एवं संवैधानिक व्यवस्था को सुदृढ बनाए रखने में कायस्थों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

 

उन्होंने कहा कि आज कायस्थों को एकजुट होकर राजनीतिक, सामाजिक , शैक्षणिक तथा सांस्कृतिक रूप से पूर्व की तुलना में ज्यादा समृद्ध होने की आवश्यकता है । श्री किशोर ने कहा कि हमें अपने हक और अधिकार को लड़कर हासिल करना होगा क्योंकि आज सबसे बुद्धिजीवी तथा शैक्षणिक रूप से समृद्ध कायस्थ जाति के लोगों को उनके हक एवं अधिकार से वंचित करने की साजिश रची जा रही है । उन्होंने कहा कि ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस देश के प्रायः सभी राज्यों में कायस्थ जाति के गौरवशाली अतीत को हासिल करने के साथ-साथ राजनीति , रोजगार और शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भागीदारी तथा हिस्सेदारी प्राप्त करने के लिए ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद के नेतृत्व में पुरजोर प्रयास कर रहा है।इसी सिलसिले में विगत दिसंबर माह में नई दिल्ली में आयोजित विश्व कायस्थ महासम्मेलन एक सार्थक प्रयास के रूप में सामने आया है।

 

 

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने दाउदनगर में चित्रगुप्त सभागार के निर्माण के लिए हर संभव मिलकर प्रयास करने की बात कही जिसका बैठक में पुरजोर समर्थन किया गया । उन्होंने जरूरतमंद लोगों को शिक्षा , रोजगार और समाज की लड़कियों की शादी में हर संभव सहयोग करने की बात कही । बैठक में दाउदनगर अनुमंडल में कायस्थ समाज की महिलाओं के संगठन की शुरुआत करने और उसे सशक्त बनाने पर भी जोर दिया गया ।इस बैठक में औरंगाबाद से भाग लेने आये जीकेसी के महासचिव अजय कुमार वर्मा,सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव राजू रंजन सिन्हा, चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव राजेश कुमार सिन्हा के अलावा हरिओम श्रीवास्तव, दिनेश चन्द्र सिन्हा ने कायस्थों के उत्थान पर अपने सारगर्भित विचार रखे । बैठक की अध्यक्षता रोशन सिन्हा ने की।

 

बैठक में दाउदनगर अनुमंडल कायस्थ समाज के पदाधिकारियों का चयन किया गया जिसमें अध्यक्ष- बबलू श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष- अंजनी कुमार सिन्हा, सचिव- हरिओम श्रीवास्तव, सह सचिव- अमित कुमार सिन्हा, कोषाध्यक्ष- दीपक कुमार सिन्हा, मीडिया प्रभारी- डॉ सुनीता कुमारी, प्रखंड सलाहकार- अरुण कुमार श्रीवास्तव चुने गये। मार्गदर्शक मंडल के लिए सेवानिवृत्त प्राचार्य दिनेश चंद्र सिन्हा, पवन सिन्हा, अनिल सिन्हा, अरुण कुमार सिन्हा, अखौरी उदय कुमार, सूरज मोहन सिन्हा, सुनील सिन्हा, विनय कुमार सिन्हा, विजय कुमार बरियार, राजकुमार सिन्हा, अशोक कुमार दास, शत्रुघ्न सिन्हा का चयन किया गया। दाउदनगर के संगठन को अंतरराष्ट्रीय संगठन ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस से मान्यता प्रदान की गई । प्रान्तीय – राष्ट्रीय स्तर पर दाउदनगर के कायस्थ संगठन को अग्रणी बनाने का भी संकल्प बैठक में लिया गया ।बैठक के दौरान कायस्थ समाज के सैकड़ों प्रतिनिधियों की भागीदारी रही ।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page