औरंगाबाद

सदर विधायक ने देव से शुरू किया सदस्यता अभियान

औरंगाबाद। देव प्रखंड में कांग्रेस पार्टी ने अपने सदस्यता अभियान के दौरान पार्टी की नीतियों पर विश्वास करने वाले लोगों को पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस कार्यक्रम का नेतृत्व खुद सदर विधायक आनंद शंकर ने किया और पार्टी की विचारधारा से ग्रामीणों को अवगत कराया।

 

विधायक ने अपने बताया कि कांग्रेस पार्टी देश की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी है जो संवैधानिक मूल्यों को पालन करती है।उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान एक पुष्प वाटिका की तरह है जिसमें हर तरह के फूल खिलते हैं उसी तरह हिंदुस्तान में भी सभी जाति, सभी धर्म और सभी क्षेत्र के लोगों को बराबर हक और अधिकार दिया गया है।

 

हिंदुस्तान के निर्माण में सभी ने योगदान दिया है और सबों का पूरा हक है। उन्होंने कहा कि इसकी खूबसूरती को और बढ़ाने की जरूरत है। इस देश की आजादी में कांग्रेस पार्टी का बहुत बड़ा योगदान रहा है क्योकि यह देश का इकलौता संगठन है जिसने मातृभूमि की बलिबेदी पर अपने कई नेताओं और कार्यकर्ताओं की कुर्बानी दी है।हमने कभी भी फिरका परस्त ताकतों से हाथ नहीं मिलाया।

 

हम बाबा साहब अंबेडकर, महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू जैसे आदर्शवादी जन नेताओं के बताए मार्ग पर हमेशा चलते रहे है और आगे भी चलते रहेंगे।कांग्रेस पार्टी के सकारात्मक सोच का ही असर है कि हम आजादी के बाद सुई से लेकर मिसाइल तक बनाया।

 

कांग्रेस ने इस देश में कई ऐसी संस्थानों की स्थापना की जिससे आज देश विकसित राष्ट्र की श्रेणी में दिखाई पड़ता है।हर वर्ग का विकास हर लोग का साथ ही कांग्रेस का उद्देश्य है।आज जरूरत है हमें अपने पूर्वजों की विरासत को बचाने की। इस देश की आजादी के लिए कुर्बान हुए लोगों ने देश की खूबसूरती का जो सपना देखा था।

 

उस सपना को बरकरार रखने के लिए हम सबको मिलजुल कर भेदभाव की भावना को खत्म करना होगा। केवल राष्ट्र निर्माण की बात करनी होगी। यह तभी संभव है जब हम संविधान के मूल्यों की रक्षा कर सकें और उसका पालन कर सके। जब तक इस देश के निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति को शिक्षा और रोजगार मुहैया नही होगा तब तक हम संघर्ष करते रहेंगे।

 

कार्यक्रम में रत्नाकर सिंह, रविंद्र कुमार सिंह, प्रमोद सिंह, सुनील सिंह, मनीष सिंह, मुनीर खान, कमलेश चौरसिया, शगुन सिंह, मुर्तजा आलम, अफसर खान, मोहम्मद गुजुर, बबलू चंद्रवंशी, अशोक यादव, संतोष यादव, नागेश्वर, पवन सिंह आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

 

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page