औरंगाबाद

मुख्यमंत्री ने सदन की गरिमा को न सिर्फ किया तार-तार बल्कि चोर की दाढ़ी में तिनका कहावत को किया चरितार्थ-चिराग पासवान

औरंगाबाद। बिहार में 4 अप्रैल को 24 सीटों पर होने वाले एमएलसी चुनाव को लेकर सरगर्मियां बढ़ी हुई है।प्रमुख दल अपने अपने उम्मीदवारों की हौसला अफजाई को लेकर जिलों में दौरा कर रहे हैं।औरंगाबाद में भी एमएलसी चुनाव को लेकर शीर्षस्थ नेताओं का जमावड़ा लग रहा है।इसी कड़ी में मंगलवार को लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास के प्रत्याशी अनूप ठाकुर ने भी नामांकन किया और उनके समर्थन में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान औरंगाबाद पहुंचे।जहां पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनका जमकर स्वागत किया।

 

इस दौरान एक प्रेसवार्ता कर श्री पासवान ने जहां अपने उम्मीदवार की स्थिति मजबूत बताई वही सोमवार को विधानसभा में नीतीश कुमार के आक्रोश पर आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उनके ही दल के लोग थानाध्यक्ष एवं एसडीपीओ के द्वारा जन प्रतिनिधियों के साथ हुए बदसुलूकी पर सदन में कार्रवाई की मांग कर रहे है।परंतु माननीय मुख्यमंत्री वैसे अधिकारियों को सदन में गरजकर बचा रहे है।उन्होंने बिहार में अफसरशाही बढ़ा रखी है।श्री पासवान ने कहा कि मुख्यमंत्री ने न सिर्फ अध्यक्ष के पद की गरिमा को तार तार किया है बल्कि उंगली दिखा दिखाकर कुर्सी को चुनौती दी है।

 

उनकी यह कार्रवाई सदन के इतिहास के लिए एक काला दिन और काला अध्याय है। उन्होंने कहा कि आखिर किस बात की मुख्यमंत्री को बेचैनी हुई क्यों वे अधिकारियों को बचाना चाहते है निसंदेह चोर की दाढ़ी में तिनका वाली बात साबित हो रही है।श्री पासवान ने कहा कि अध्यक्ष जी ने पूरी शालीनता का परिचय दिया और सदन की मर्यादा बचाई नही तो ऐसी हरकत किसी और विधायक के द्वारा की जाती तो उस पर कार्रवाई तक हो जाती।मुख्यमंत्री की हरकत न सिर्फ निंदनीय है बल्कि दुर्भग्यपूर्ण है।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page