औरंगाबाद

चित्रकारी ऐसी की तस्वीरें बोल दे, ऐसा ही कर दिखाया है अनुग्रह मध्य विद्यालय के एक छात्र ने

अनुग्रह मध्य विद्यालय के कक्षा 6 के छात्र ने लगाया पेंसिल से बनाई गई तस्वीरों की प्रदर्शनी, दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर हुए लोग

औरंगाबाद। हिंदी साहित्य जगत के प्रसिद्ध कवि दुष्यंत कुमार की एक पंक्ति ” कौन कहता है कि नही हो सकता है आसमा में सुराख,एक पत्थर तो तबियत से उछालों यारों।” इस पंक्ति को चरितार्थ किया है सदर प्रखंड के कथरुआ गांव एवं शहर के अनुग्रह मध्य विद्यालय के कक्षा छह के छात्र कुमार गौरव उर्फ आजाद ने। आजाद ने बिना प्रशिक्षण के अभी तक सैकड़ों महापुरुषों एवं महत्वपूर्ण सख्सियतों की तस्वीर पेंसिल से हूबहू उकेरी है। उसकी इस प्रतिभा एवं कैनवास पर उंगलियों की जादूगरी देखकर लोग दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर हैं।

 

कथरुआ गांव के बेहद सामान्य परिवार में जन्मे आजाद ने बताया कि उसे बचपन से ही चित्रकारी का शौक है और वह अपनी कल्पना से तस्वीरों को कागजों पर आकार देता है और उसकी इच्छा है देश में फाइन आर्ट के क्षेत्र में जिले और बिहार का नाम रौशन करे।लेकिन उसे इस सफर को ठाय करने के लिए कड़ी मेहनत और परिश्रम की जरूरत है क्योंकि बिना संघर्ष और बिना दृढ़ इच्छाशक्ति के सफलता प्राप्त नही की जा सकती।

आजाद ने अपने विद्यालय में मंगलवार को एक दर्जन से अधिक महापुरुषों एवं देश के नव निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले नायकों की तस्वीर की प्रदर्शनी लगाई। इस प्रदर्शनी को जिसने भी देखा सबने उज़की सराहना की क्योंकि सभी तस्वीरे काफी जीवंत थी।प्रदर्शनी में उसके द्वारा बनाए गए चित्रों को देखकर लोग अचंभित हो गए और सब उनके जुबान से यही निकला कि बिना किसी प्रशिक्षण के कोई कैसे कैनवास पर इतनी खूबसूरत तस्वीर को जीवंत स्वरूप प्रदान कर सकता है।

 

 

विद्यालय के प्रधानाध्यापक उदय कुमार सिंह ने बताया कि उनके विद्यालय के कक्षा 6 का छात्र कुमार गौरव उर्फ आजाद न सिर्फ विलक्षण प्रतिभा का धनी है बल्कि उसमें अद्भुत चित्रांकन की शक्ति है क्योंकि कैनवास पर उसकी उंगलियां ऐसे गतिमान रहती है जैसे वह आकृतियों के साथ जुगलबंदी कर रही हों। उसने बिना किसी प्रशिक्षण के पेंसिल से स्केच कर अभी तक सैकड़ों महापुरुषों के चित्र को कैनवास पर आकार दिया है।

 

प्रधानाध्यापक ने बताया कि उसकी  प्रतिभा को तराशने की कोशिश की जाएगी और आगामी 23 मार्च को बिहार दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा आयोजित प्रदर्शनी में इसके चित्रों को प्रदर्शित किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page