औरंगाबाद

सावधान! यदि आपकी वाहन नो पार्क जोन में खड़ी पाई जाएगी तो आप पर लग सकता है धारा 188

औरंगाबाद। शहर में रोड जाम की समस्या से निजात पाने एवं यातायात व्यवस्था को सुदृढ बनाने के मद्देनजर सोमवार को जिला परिवहन पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया।इस दौरान शहर के रमेश चौक से धर्मशाला मोड़ तक सड़क को अतिक्रमित कर लगाए गए फुटपाथी दुकानदारों को हटाया गया।

$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$

शहर में चला अतिक्रमण अभियान,नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों पर भी लगा जुर्माना

यदि आपने हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब नहीं किया है तो कृपया इसे सब्सक्राइब कर लें और बेल आइकन दबाना ना भूले। ताकि आप खबरों से रह सके हर वक्त अपडेट

*यदि हमारा यह वीडियो आपको पसंद पड़े तो कृपया लाइक, शेयर और कमेंट जरुर करें*

$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$$

जिला प्रशासन की टीम को देखते ही कई ठेले वाले अपने अपने ठेले लेकर भागते नजर आए और इसी क्रम में कई दुकानदार को प्रशासन की सख्ती के सामने भी करना पड़ा।इस अभियान का नेतृत्व कर रहे अनुमण्डल पदाधिकारी विजयंत ने बताया कि शहर को अतिक्रमण मुक्त करना जिला प्रशासन का ध्येय है और अतिक्रमणकारी दुकानदारों के ठेले एवं गुमटियां जप्त की गई। एसडीएम ने बताया कि अब यह अभियान लगातार जारी रहेगा।

 

नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों के मालिकों पर लग सकता है धारा 188

औरंगाबाद शहर के रमेश चौक से लेकर सब्जी मंडी तक नो पार्किंग जोन में लगाए गए वाहनों को जिला प्रशासन ने जप्त किया और उनसे जुर्माने वसूले गए। जानकारी देते हुए अनुमंडल पदाधिकारी विजयंत ने बताया कि शहर में लगातार ऐसे वाहनों को जो नो पार्किंग जोन में लगाए गए हैं और उनसे यातायात अवरुद्ध होता है तो उसे जप्त कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में जिला परिवहन विभाग एक स्टिकर बना रही है, जिसे नो पार्किंग जोन में खड़े दो पहिये या चार पहिये वाले वाहनों पर चिपका दिया जाएगा। उस स्टिकर पर जुर्माना जमा करनेकी तिथि एवं जुर्माना देने की राशि अंकित रहेगी नियत समय पर यदि वाहन मालिक के द्वारा जुर्माने की राशि परिवहन विभाग में जमा नहीं की गई तो उन पर 188 का मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page