औरंगाबाद

शहीदे आजम सरदार भगत सिंह शहादत दिवस समारोह कार्यक्रम का हुआ आयोजन

औरंगाबाद। हसपुरा के ग्राम कनाप में अमर शहीद सरदार भगत सिंह की मूर्ति स्थल पर महान क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव की शहादत दिवस समारोह कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम का आयोजन अखिल हिंद फॉरवर्ड ब्लॉक क्रान्तिकारी संगठन व हिंदुस्तान समाजवादी छात्र युवा संघ के संयुक्त प्रयास से हुआ।

 

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कनाप निवासी फॉरवर्ड ब्लॉक के कॉमरेड राजेश्वर राय ने की जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में अखिल हिंद फॉरवर्ड ब्लॉक क्रान्तिकारी संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष कॉमरेड डी एस निराला रहें। विशिष्ट अतिथियों में फॉरवर्ड ब्लॉक के राष्ट्रीय सचिव कॉमरेड बालगोविंद व प्रांतीय सचिव रामगोविन्द के साथ हिंदुस्तान समाजवादी छात्र युवा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शक्तिमान राही उपस्थित रहे।

मुख्य अतिथि के द्वारा झंडोतोलन के पश्चात शहीद गीत गाने के बाद सभी अतिथियों ने शहीद सरदार भगत सिंह जी के मूर्ति पर फूल एवम माला चढ़ा कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।इस कार्यक्रम में रामगोविन्द जी ने भगत सिंह जी के शहादत की ओर युवाओं का ध्यान आकृष्ट कराते हुए उन्हें न्याय के पथ पर अग्रसर होने को प्रेरित किया। कॉमरेड चंद्रशेखर यादव ने कहा कि जब तक हम समाज के प्रति कल्याण का भाव नहीं रखेंगे, अन्याय के खिलाफ आवाज नही उठाएंगे, तब तक शहीद भगत सिंह जी की शहादत का वास्तविक श्रद्धांजलि अर्पित नहीं कर सकते।

 

कॉमरेड सुरेश विश्वकर्मा ने मंच से हुंकार भरते हुए देश के विभिन्न संगठनों के युवाओं से आह्वान किया कि अमर शहीद भगत सिंह के बताए रास्ते पर चलकर ही कोई भी समस्या का समाधान ढूंढा जा सकता है। हिन्दुस्तान समाजवादी छात्र युवा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शक्तिमान राही ने समाज के क्रांतिकारी युवाओं एवम बुद्धिजीवियों से कहा कि क्यों और कैसे करके सवाल करके ही हम किसी भी समस्या के बारे में जान सकते हैं और उसका बेहतर समाधान ढूंढ सकते हैं।

रफीगंज के शिक्षक सह समाजसेवी अभय कुमार ने कहा कि भगत सिंह जी के विचारों को युवाओं को अपने रक्त के एक – एक कण में बसा कर जीवन संघर्ष में शामिल होकर ही वास्तविक समाजसेवा की जा सकती है।समारोह के अंत में मुख्य अतिथि कॉमरेड डी एस निराला ने लोगों को शहीद भगत सिंह जी के देश के प्रति बलिदान और त्याग को आदर्श मानकर उनके सपनों को साकार करने पर बल दिया।

 

इसके साथ ही वैश्विक युद्ध और आर्थिक मंदी में विश्व की अधिकांश निर्धन लोगों पर बड़ी आर्थिक शक्तियों के शोषण को रेखांकित किया।इस शहादत दिवस कार्यक्रम के मौके पर कॉमरेड राधेश्याम यादव, शैलेश चंद्रवंशी, अजय बौद्ध, नागेंद्र यादव, सुरेंद्र पंडित, नरेश सिंह, मनउर होदा, ओमप्रकाश, जानकी राम, अमरेंद्र कुमार, रामचंद्र आजाद, डॉ मोतीलाल पासवान, डॉ विजय, गनौरी ठाकुर, स्वर्ण कुमार, ज्वाला कुमार, संटू पासवान एवम सैंकड़ों ग्रामीण लोग शामिल रहें।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page