औरंगाबाद

देव के भगवान श्री सूर्य नारायण इंटर महाविद्यालय में इंटर में बेहतर प्राप्तांक प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं को किया गया सम्मानित

औरंगाबाद। भगवान श्री सूर्य नारायण इंटर महाविद्यालय देव में शनिवार को पुष्पांजलि प्रतिभा सम्मान समारोह एवं शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी विदाई समारोह का आयोजन किया गया । इंटर परीक्षा परीक्षा 2022 में विज्ञान एवं कला संकाय के छात्रों को प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त कर बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया गया ।

 

इस अवसर पर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना द्वारा घोषित रिजल्ट के आधार पर महाविद्यालय में विज्ञान संकाय में प्रथम रितेश कुमार सिंह को 452 अंक , सिंकू सिंह 437 अंक प्राप्त कर दूसरा , एवं मेघा कुमारी 373 अंक प्राप्त कर तीसरा स्थान प्राप्त करने पर पुष्पांजलि प्रतिभा सम्मान पुरस्कार दिया गया । वहीं कला संकाय में धर्मेंद्र कुमार को पहला , सोनू निगम को दूसरा , एवं मेधा कुमारी को तीसरा स्थान प्राप्त करने पर पुष्पांजलि प्रतिभा सम्मान पुरस्कार दिया गया ।

 

महाविद्यालय के छात्र इसके पूर्व भी बिहार में विज्ञान संकाय में 5 वां स्थान एवं कला संकाय में 7 वां स्थान प्राप्त कर महाविद्यालय के शैक्षणिक स्तर को राज्य स्तर पर रेखांकित किया है । महाविद्यालय में प्रारम्भ से शिक्षा के प्रति माहौल बनाने का प्रयास किया जाता है । देव जैसे ग्रामीण क्षेत्र में छात्र छात्राओं को उच्च शिक्षा ग्रहण का यह महाविद्यालय सशक्त माध्यम बना है ।

 

इस दौरान महाविद्यालय से सेवा निवृत्त कर्मचारियों का विदाई ( सम्मान ) कार्यक्रम किया गया । कार्यक्रम संचालन में शिक्षकेत्तर प्रतिनिधि आलोक कुमार ने कहा कि यह महाविद्यालय वित्त रहित शिक्षा नीति के तहत 1983 में स्थापित हुआ था । महाविद्यालय के कर्मचारी स्थापना काल से लगातार बिना पैसा के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा का अलख जगा रहे थे ।

ऐसे ही वित्त रहित शिक्षकों ने ग्रामीण परिवेश के बच्चे बच्चियों को उच्च शिक्षा का अलख जगाया । आज बिहार की शिक्षा का स्तर उच्चा करने में वित्त रहित शिक्षक अपना शत प्रतिशत समर्पित किया । आज भी वित्त रहित कर्मी के घरों का चूल्हा भले ही बुझ जाता होगा किन्तु समाज मे शिक्षा का लौ जलते रहे इसके लिये जीवन समर्पित कर दिया ।

राज्य सरकार 2008 में वित्त अनुदानित कर कर्मचारियों का उत्साह वर्द्धन करने का कार्य किया था , लेकिन सरकार के स्पष्ट नीतियों के अभाव में 2016 से अनुदान आज भी बाकी है , कुछ संस्थानों में कतिपय कारणों से कई सालों का पिछला अनुदान भी नही मिला । सरकार शिक्षकों को खाना का थाली दिखला कर वापस करने का कुचक्र चला रही है ।

 

इस दौरान सेवानिवृत शिक्षक कमलेश कुमार तिवारी , रमेश कुमार सिंह , रंजन कुमार , भरत प्रसाद सिंह , गिरजा प्रसाद सिंह , माधुरी कुमारी , सहायक दीनानाथ सिंह , चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी अलखदेव पासवान , देवेंद्र प्रसाद , रामनरेश पांडेय , को सेवानिवृति के पश्चात विदाई दी गयी ।

 

इस मौके पर कमलेश कुमार तिवारी ने बताया कि हमलोगों ने कितनी कठिनाई में अपनी भूमिका शिक्षा का स्तर को उठाने में लगाया है , उन दिनों अभिवावकों और छात्रों का भरोषा जितना भी दुष्कर कार्य था । कभी कभी पॉकेट में पैसा नही रहता था फिर भी साइकल और पैदल सवारी कर संस्थान का गौरव बढ़ाया है । कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य अरविंद कुमार सिंह ने किया अपने सम्बोधन में सबो के सहयोग का संस्मरण कर उनसे पुनः सामाजिक और नैतिक दायित्वों का निर्वहण करते हुये महाविद्यालय उत्थान में सहयोग की मांग किये ।

 

इस अवसर पर सुनील कुमार सिन्हा , मिथलेश कुमार सिंह , सुदर्शन दास , कनक मिश्रा , लवलेश कुमार सिंह , नरेश राम इम्तेयाज आलम , कुमार सरोज सिंह , चंदन मिश्रा , कुमार धीरज , ललन राम , मुखदेव राम , नागेश्वर महतो , धनंजय पांडेय , सोनामती देवी , अंजली कुमारी , अंजू कुमारी , अशोक राम सहित सभी कर्मचारी उपस्थित हुये ।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page