औरंगाबाद

19 दिसंबर को विश्व कायस्थ महासम्मेलन से कायस्थ फूकेंगे बिगुल : राजीव रंजन

राष्ट्रीय – अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कायस्थों की हो रही गोलबंदी

देश के विभिन्न कायस्थ संगठनों ने वृहद आयोजन को दिया अपना सहयोग – समर्थन

औरंगाबाद। अपने राजनैतिक, व्यावसायिक, शैक्षणिक और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए कायस्थ समाज की राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गोलबंदी शुरू हो गई है। इस सिलसिले में आगामी 19 दिसंबर को नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में होने वाले विश्व कायस्थ महासम्मेलन के माध्यम से देश के विभिन्न राज्यों में फैले कायस्थ परिवारों का बड़ा जुटान होने जा रहा है।

 

जीकेसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता कमल किशोर ने आज यहां बताया कि देश के विभिन्न कायस्थ संगठनों के सहयोग-समर्थन से ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस के बैनर तले विश्व कायस्थ महासम्मेलन के आयोजन को लेकर बड़े पैमाने पर तैयारियां चल रही हैं। जीकेसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं कायस्थ हित के लिए राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार प्रयासरत राजीव रंजन प्रसाद के नेतृत्व में राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के अलावा देश के विभिन्न राज्यों में इस आयोजन को लेकर जगह-जगह जागरूकता अभियान, जन संपर्क अभियान, शंखनाद यात्रा जैसे कार्यक्रम लगातार किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कायस्थ हित के लिए होने वाला यह वृहद आयोजन आजादी के बाद कायस्थों का अब तक का सबसे बड़ा समागम होगा।

 

श्री किशोर ने बताया कि जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद के लगातार दौरों तथा प्रयासों से देश के विभिन्न राज्यों के 3 दर्जन से अधिक कायस्थ संगठनों ने इस कार्यक्रम को अपना समर्थन – सहयोग देना तय किया है ।विश्व कायस्थ महासम्मेलन में भाग लेने के लिए अब तक पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद रविशंकर प्रसाद,पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं प्रख्यात अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा, उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री सुनील शास्त्री, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पूर्व सांसद संजय निरुपम, प्रख्यात राजनीतिज्ञ चक्रपाणि , पूर्व सांसद पवन वर्मा, विधायक अभय वर्मा, प्रख्यात ज्योतिषाचार्य पवन सिन्हा,फिल्म अभिनेता शेखर सुमन, हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव समेत देश के विभिन्न प्रमुख राजनीतिज्ञों, संपादकों, पत्रकारों, फिल्म जगत के कलाकारों, लोक गायकों, खिलाड़ियों, विभिन्न बड़े औद्योगिक तथा व्यावसायिक संस्थानों के प्रमुखों, अधिकारियों आदि ने इस कार्यक्रम में भाग लेने पर अपनी सहमति दे दी है।

 

 

उन्होंने बताया कि विश्व कायस्थ महासम्मेलन में राजनीति में महत्वपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित करने के अलावा कायस्थ जाति के बेरोजगार युवक – युवतियों को रोजगार से भी जोड़े जाने के लिए प्रभावी कदम उठाने पर चर्चा होगी।इस आयोजन के माध्यम से समाज में फैली दहेज जैसी कुप्रथा को भी समाप्त करने का संदेश संप्रेषित किया जाएगा।

 

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने बताया कि विश्व कायस्थ महासम्मेलन की तैयारी को लेकर देशभर में ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद तथा प्रबंध न्यासी रागिनी रंजन अब तक 250 से अधिक सभाओं , कार्यक्रमों, सम्मेलनों में हिस्सा ले चुके हैं और हर जगह बड़ी संख्या में जुट रहे कायस्थ इस आयोजन को समाज हित में आज की सबसे बड़ी जरूरत बता रहे हैं ।उन्होंने कहा कि कायस्थ समाज के लिए वर्तमान समय निर्णायक है और ऐसी स्थिति में हम सभी को एकजुट होकर अपनी मजबूती का एहसास सभी राजनीतिक दलों – संगठनों को कराना है ताकि किसी भी रूप में हमारे हक और अधिकार को नजरअंदाज नहीं किया जा सके ।उन्होंने कहा कि यदि अभी कायस्थ समाज नहीं चेता तो सबसे प्रबुद्ध तथा शिक्षा संपन्न इस जाति को विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है।

 

श्री किशोर ने बताया कि विश्व कायस्थ महासम्मेलन में भाग लेने के लिए देश के कोने-कोने से अब तक हजारों लोगों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के वास्ते रेल, हवाई मार्ग एवं अन्य माध्यमों से अपना टिकट सुरक्षित करा लिया है । महासम्मेलन में भागीदारी के लिए निबंधन की भी प्रक्रिया तेजी से चल रही है। उन्होंने बताया कि इस मौके पर कायस्थ जाति के 500 से अधिक ख्यातिलब्ध कलाकारों का भी जुटान होने जा रहा है जो 18 और 19 दिसंबर को अपनी प्रस्तुतियों से लोगों का भरपूर मनोरंजन करने के साथ-साथ समाज की एकता पर भी अपना संदेश देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page