औरंगाबाद

देव सूर्य मंदिर से कुंड तक 120 सीसीटीवी कैमरे से होगी छठ मेले की निगरानी

औरंगाबाद। जिला पदाधिकारी, श्री सौरभ जोरवाल द्वारा देव चैती छठ मेला के मद्देनजर की जा रही तैयारियों की समीक्षा देव प्रखंड के सभागार में की गई।

बैठक में पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता को सभी निर्धारित स्थलों एवं आवासन स्थल पर चपाकाल की मरम्मती कराने एवं पर्याप्त संख्या में पानी के टैंकर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। बताया गया कि ग्रीष्म ऋतु को ध्यान में रखते हुए कम से कम 75 पानी के टैंकर की आवश्यकता होगी जिसे उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। साथ ही छठ घाट पर शौचालय के रंग रोगन का कार्य कराने का भी निर्देश दिया गया।कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमंडल औरंगाबाद, राकेश कुमार को निर्धारित स्थलों पर ड्रॉप गेट एवं चिन्हित स्थानों पर बैरिकेडिंग पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया।

नगर कार्यपालक पदाधिकारी, औरंगाबाद को देव मंदिर एवं छठ घाट के आस पास साफ सफाई का कार्य कराने का निर्देश दिया गया। जिला नज़ारत उप समाहर्ता, मनीष कुमार द्वारा बताया गया कि भीड़ पर निगरानी हेतु कुल 120 सीसीटीवी कैमरे लगाए जायेंगे। अंचल अधिकारी देव को जनरेटर की व्यवस्था कराने एवं कवर्ड वायर का उपयोग करने का निर्देश दिया गया। दोनों सूर्य कुंड पर जाल की व्यवस्था कराने का निर्देश जिला मत्स्य पदाधिकारी को दिया गया। जिला गव्य विकास पदाधिकारी को पर्याप्त मात्रा में दूध उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

जगन्नाथ हाई स्कूल के पास आवासन स्थल की व्यवस्था बीआरबीसीएल एवं नरची मोड़ के पास आवासन स्थल पर श्री सीमेंट के माध्यम से जनरेटर एवं टेंट लगाने का निर्देश दिया गया।जिला अग्निशमन पदाधिकारी को फायर ब्रिगेड की गाड़ियों की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया गया। साथ ही आवासन स्थल के आस पास फायर ब्रिगेड एवं फायर एक्सटिंग्विशर की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया गया।

इसके अतिरिक्त विद्युत कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि देव में सड़कों पर पर्याप्त रोशनी हेतु सड़क एवं पॉल पर बल्ब लगा दिया गया है। साथ ही ट्रांसफार्मर की मरम्मती कराने एवं सड़कों के जर्जर तार की मरम्मती कराने का निर्देश दिया गया। साथ ही रोस्टर वार इलेक्ट्रीशियन एवं मैकेनिक की सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि कुल 07 एंबुलेंस उपलब्ध कराया जाएगा। इन जगहों पर डॉक्टर्स की टीम भी उपस्थित रहेगी। इनके साथ ORS, आवश्यक मेडिसिन कीट इत्यादि की व्यवस्था रहेगी। फूड इंस्पेक्टर को विक्रय किए जाने वाले खाने पीने के सामानों की गुणवत्ता का निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया।आपदा प्रभारी फतेह फैयाज द्वारा बताया गया कि इस अवसर पर आपदा विभाग की तरफ से एनडीआरएफ की टीम एवं गोताखोर भी उपस्थित रहेंगे।

पुलिस अधीक्षक द्वारा विधि व्यवस्था के संबंध में बताया गया कि बिहार के बाहर से भी इस पर्व को मनाने लोग आते हैं जिससे काफी मात्रा में भीड़ इकट्ठा हो जाती है। अतः सभी के समन्वय से ही यह पर्व शांतिपूर्ण तरीके से संभव होगा। इस दौरान असामाजिक तत्वों पर भी नजर रखी जायेगी। पुलिस अधीक्षक द्वारा मकान किराए पर देने वाले निवासियों से अनुरोध किया गया कि जो लोग बाहर से आ रहे हैं उसका पूर्व में सत्यापन कर लें।

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि गर्मी के बढ़ने के कारण पानी की समस्या को देखते हुए पानी के टैंकर को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराया जाय। इसके लिए पीएचडी कार्यपालक अभियंता को आवश्यक निर्देश दिया गया। साथ ही सिविल सर्जन को निर्धारित स्थलों पर डॉक्टर्स की टीम को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया गया। इसके अतिरिक्त जिला परिवहन पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी, नगर कार्यपालक पदाधिकारी एवं कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण विभाग को स्थल भ्रमण कर कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया।

बैठक में अपर समाहर्ता आशीष कुमार सिंहा, अपर समाहर्ता जिला लोक शिकायत निवारण गोविंद चौधरी, सिविल सर्जन डा कुमार वीरेंद्र प्रसाद, जिला पंचायती राज पदाधिकारी मंजू प्रसाद, वरीय उप समाहर्ता फतेह फैयाज, जिला भू अर्जन पदाधिकारी मनोज कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी बालमुकुंद प्रसाद, एसडीएम विजयंत कुमार, वरीय उप समाहर्ता कृष्णा कुमार, वरीय उप समाहर्ता आलोक राय, गोपनीय शाखा प्रभारी अमित कुमार सिंह, एसडीपीओ गौतम शरण ओमी, कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण राकेश कुमार, अंचल अधिकारी देव, सीडीपीओ देव, कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद, देव मंदिर न्यास समिति के सदस्य एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक के उपरांत जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा देव सूर्य मंदिर, देव सूर्य कुंड एवं आसपास के क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण किया गया एवं अब तक किए गए कार्यों का जायजा लिया गया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page