औरंगाबाद

स्वास्थ्य परिक्षेत्र अनुदान के रूप में जिला प्रशासन ने भारत सरकार को भेजा 2338.45 लाख रुपए की योजनाओं का प्रस्ताव

190 हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर पर पैथोलॉजिकल जांच की होगी व्यवस्था, शहर में चार अन्य अर्बन हेल्थ वैलनेस सेंटर की होगी स्थापना

औरंगाबाद। पंद्रहवें वित्त आयोग अंतर्गत स्वास्थ्य परिक्षेत्र अनुदान के उपयोग एवं निगरानी के लिए जिले में जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति की बैठक आज समाहरणालय सभाकक्ष में आहूत की गई.

 

जिला पदाधिकारी सौरव जोरवाल की जानिब से यह बताया गया कि 15वें वित्त आयोग के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य संस्थानों को सुदृढ़ करने के लिए स्थानीय निकायों की भागीदारी सुनिश्चित कराई जा रही है ताकि प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को सुदृढ़ किया जा सके. स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को सुदृढ़ बनाने के लिए जिला स्तर पर एक कमेटी गठित की गई है जिसके सदस्य के रूप में सिविल सर्जन, जिला परिषद सदस्य किरण सिंह, सदर प्रखंड प्रमुख ज्ञानती देवी, मुखिया अमरीश कुमार सिंह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी एवं नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को सदस्य के रूप में नामित किया गया है.

 

जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ कुमार मनोज द्वारा बताया गया कि गठित समिति को गतिविधियों के क्रियान्वयन एवं विषय वस्तु की जानकारी देने हेतु आज एक उन्मुखीकरण का आयोजन जिले में कार्यरत डेवलपमेंट पार्टनर केयर इंडिया के द्वारा किया गया है. इस क्रम में वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए दिशा निर्देश अनुसार कार्य योजना पर विमर्श एवं सदस्यों को उनके रोल एवं रिस्पांसिबिलिटी के संबंध में अवगत कराया गया.

 

स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम द्वारा आगे बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2022- 23 के लिए राशि 2338.45 लाख रुपए की योजनाओं का प्रस्ताव जिला पदाधिकारी स्तर से भारत सरकार को भेजा गया है. इसके अंतगर्त ओबरा प्रखंड के बेल में अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भवन निर्माण, रफीगंज, हसपुरा एवं देव में ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट की स्थापना, 190 हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर पर पैथोलॉजिकल जांच की व्यवस्था, औरंगाबाद शहरी क्षेत्र में पूर्व से कार्यरत एक शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अतिरिक्त चार अन्य अर्बन हेल्थ वैलनेस सेंटर की स्थापना का कार्य प्रस्तावित है. उक्त कार्य योजना की स्वीकृति भारत सरकार से प्राप्त होने के उपरांत दिशा निर्देश के आलोक में कार्य कराया जाएगा.

 

इस बैठक में नामित सदस्यों के अतिरिक्त उप विकास आयुक्त मंजु कुमारी, डेवलपमेन्ट पार्टनर केयर इंडिया के टीम लीडर उर्वशी प्रजापति, जिला लेखा प्रबंधक अश्विनी कुमार, डीपीसी नागेंद्र कुमार केसरी, प्रभारी जिला मूल्यांकन एवं अनुश्रवण पदाधिकारी अविनाश कुमार उपस्थित रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page