औरंगाबाद

कहां गई गुड़िया,उसे जमीन निगल गई या आसमान,अपनी पत्नी को खोज रहा एक युवक

डीएम से भी लगा चुका है गुहार, लेबर इंस्पेक्टर के साथ मिलकर पत्नी कर रही है साजिश

गोह से सिकंदर पासवान की रिपोर्ट

गोह(औरंगाबाद) । इंटरनेशनल फैमिली डे पर रविवार को अपने तीन मासूम बच्चे के साथ एक पिता उनके मां की खोज को लेकर भटकते हुए गोह थाना में पहुँचकर पुलिस से मदद की गुहार लगाई।

 

दाउदनगर थानाक्षेत्र के चौरी गांव निवासी सुरेश पासवान के पुत्र योगेश पासवान ने बताया कि मैंने जाति बंधन को तोड़ते हुए 2014 में गोह थानाक्षेत्र के पिपरा गांव निवासी बीरेंद्र साव की पुत्री गुड़िया कुमारी के साथ अंतरजातीय विवाह न्यायालय में किया था।लेकिन मेरी पत्नी को सास ससुर नही आने देते।पुलिस ने इसे गम्भीरता से लेते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

लेबर इंस्पेक्टर के साथ मिलकर पत्नी कर रही है साजिश

योगेश की कहानी भी किसी मुंबई आ फिल्म से कम नहीं है जहां रहस्य भी है, प्रेम भी है, रोमांस भी है और अलगाव भी है। योगेश ने बताया कि वह मुख्यमंत्री सचिवालय में काम करता था और वर्ष 2014 में जब वह अपने गांव दाउदनगर आ रहा था तो उसी वक्त गया स्टेशन पर गुड़िया से मुलाकात हुई। जो अकेली थी और रो रही थी। अकेली लड़की को रोता देख दया आ गई और उससे पूछताछ किया तो पता चला की वह गोह की रहने वाली है।

गुड़िया के साथ कोर्ट में किया था अंतरजातीय विवाह

योगेश ने बताया कि जब गुड़िया को उसके घर पहुंचाने के लिए बात की तो वह घर जाने से इंकार कर दी। उसने कहा कि घर अगर ले जाएंगे तो हम मर जाएंगे। उसने शादी करके साथ रहने की बात कही। उसकी बातों में आकर कोर्ट में उसके साथ अंतर्जातीय शादी कर ली। फिर उसके मां-बाप को बुलाया तो मां-बाप को भी कोई एतराज नहीं हुआ और हम दोनों पति पत्नी की तरह दोनों रहने लगे। उसके बाद लेबर कार्ड बनाने का काम शुरू किया। घर गृहस्ती सही तरीके से चल रही थी इसी बीच विलन बनकर लेवर इंस्पेक्टर आया और उसने पत्नी को बहला फुसलाकर अपने साथ कर लिया फिर उसके बाद उसकी पत्नी कहां है पता नहीं है।

बच्चे के साथ दर-दर भटक रहा है योगेश

लेबर इंस्पेक्टर ने मेरी आईडी को ब्लॉक कर दिया। लेकिन मेरी आईडी ब्लॉक होने के बाद भी उससे काम होते रहा और मेरा पैसा गुड़िया के खाते में जाते रहा। काफी कोशिश की लेकिन गुड़िया से मुलाकात नहीं हो सकी। इसको लेकर औरंगाबाद के जिलाधिकारी से भी मुलाकात की लेकिन अभी तक न्याय नहीं मिला है और अपने अधिकार को लेकर मैं बच्चों के साथ दर-दर भटक रहा हूं।

गुड़िया के मां ने कही शादी के बाद से मेरी बेटी नही आई मायके

ज्योही गोह पुलिस पिपरा गांव पहुची तो दर्जनों लोग जमा हो गए।सभी ने कहा कि शादी के बाद से आज तक गुड़िया अपने मायके नहीं आई है। हलाकि ग्रामीणो ने कहा कि इस मामले को लेकर कई बार योगेश पुलिस को गांव में लाया लेकिन अभी तक यह पता नही चल पाया कि आखिर गुड़िया है तो कहां? गुड़िया की मां उषा देवी एवं भाई राजकुमार ने बताया कि पुलिस लगातार छानबीन करने आती है।

 

लेकिन आज तक यह पता नहीं लगाया जा सका मेरी गुड़िया अपने बच्चों को छोड़कर कहां है। उसने संदेह जाहिर करते हुए कहा कि या तो कोई साजिश के तहत पुलिस को गुमराह कर रहा है या मेरी बेटी की हत्या कर दी गई है। मामला कुछ भी हो फिलहाल गोह थानाध्यक्ष शमीम अहमद इस मामले में हर बिंदुओं पर बारीकी से जांच करते हुए अनुसंधान में जुट गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page