औरंगाबाद

रफीगंज विधानसभा से प्रत्याशी रहे प्रमोद सिंह ने सरकारी आंकड़ों पर उठाया सवाल,कहा कि 2 दिनों के अंदर 11 लोगों की हुई मौत, 9 का चल रहा है इलाज

औरंगाबाद। वर्ष 2020 में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में रफीगंज से निर्दलीय प्रत्याशी रहे प्रमोद कुमार सिंह ने जिला प्रशासन द्वारा मंगलवार और बुधवार को जहरीली शराब से हुई मौत के बाद दिए गए आंकड़ों पर सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि प्रशासनिक आंकड़ा गलत है.जिला प्रशासन जहां 2 दिनों में सिर्फ तीन लोगों की मौत की बात कर रही है वह सही नहीं है.  जबकि विभिन्न गांव में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. श्री सिंह ने बुधवार को मृतक के परिजनों से मुलाकात कर आंकड़ा इकट्ठा किया है.

 

उन्होंने इस संबंध में मृतकों की सूची जारी करते हुए बताया कि मरने वालों में मदनपुर प्रखंड के खिरियावां के स्वर्गीय सीताराम साव के पुत्र बबलू साव, पड़रिया के स्वर्गीय कृष्णा महतो के पुत्र दिलकेश्वर महतो, पड़रिया के ही कारू दास के पुत्र कमलेश दास, बेरी के स्वर्गीय देवलाल सिंह के पुत्र रविंद्र सिंह एवं धर्मेंद्र मिश्रा के पुत्र राहुल मिश्रा, खिरियावां के पूर्व सरपंच विनोद पाल, जोगड़ी के जगदीश यादव के पुत्र रामजी यादव, बरियावां के बिरजू भुईया की पत्नी सोनवा देवी, सलैया के करीमन साव के पुत्र संतोष साव, अररूआ सुरेश सिंह, मंगरावां के बबन सिंह शामिल है.

 

उन्होंने कहा कि इन सभी की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है और इनमें से किसी का भी पोस्टमार्टम नहीं कराया गया है. श्री सिंह ने कहा कि यदि पोस्टमार्टम होता तो सही मायने में नाक के कारणों की सही जानकारी सामने आती. साथ ही साथ उन्होंने बताया है कि अभी खिरियावां के सुरेंद्र राम, मोहम्मद निजाम, धर्मेंद्र विश्वकर्मा उर्फ भोला, विनोद मेहता, जितेंद्र मेहता, पड़रिया के मनोज राम, विनोद मेहता, अखिलेश मेहता तथा खिरियावां के मनोज यादव का इलाज शेरघाटी के निजी अस्पताल में चल रहा है और सभी की स्थिति गंभीर बनी हुई है. उन्होंने कहा कि इलाजरत लोगों  में कई को आंख से भी नहीं दिख रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page