औरंगाबाद

हूच ट्रेजडी की आशंका के बीच स्वास्थ्य विभाग द्वारा मदनपुर के गांवों में सर्वे एवं मेडिकल कैंप

औरंगाबाद/जहरीली शराब के संभावित सेवन के कारण जिले के कुछ व्यक्तियों की संदेहास्पद स्थिति में मृत्यु हुई है. जिन गांवों में जहरीली शराब के संभावित सेवन के कारण लोगों की मृत्यु होने की सूचना है उन सभी गांवों में आज गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चिकित्सकीय सर्वे कराया गया. सर्वे के क्रम में शराब से होने वाले शारीरिक, मानसिक एवं मनोवैज्ञानिक नुकसान और मृत्यु की आशंका के बारे में लोगों को जागरूक किया गया.

 

मदनपुर प्रखंड के ग्राम बेरी के चार घरों में सर्वे के बाद किसी तरह की कोई परेशानी नहीं पाई गई. वहीं खिरियावां में सोलह घरों का सर्वे किया गया तो पता चला कि तीन लोगों का इलाज चल रहा है. ग्राम बरडी के एक व्यक्ति रामाशीष यादव के संबंध में जानकारी मिली कि इलाज हेतु उन्हें प्राइवेट अस्पताल में गया में भर्ती कराया गया है. दशवत खाप के रहने वाले पचास वर्षीय उमेश राम के संबंध में उनके परिजनों द्वारा बताया गया कि उनका इलाज चल रहा है. ग्राम परसा में तीस घरों का सर्वे किया गया जहां कोई दिक्कत नहीं पाई गई. कटैया गांव में एक व्यक्ति संभावित व्यक्ति के बारे में सूचना दी गई जिनका इलाज चल रहा है.

 

पड़रिया गांव में नौ लोग प्रभावित हुए हैं जिनमें से दो लोगों का इलाज अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज, गया में चल रहा है शेष स्थानीय चिकित्सक से इलाज करा रहे हैं. नोनियाडिल एवं पनवारा गांव में तीन संभावित लोग पाए गए जिनमें से एक का अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज गया में इलाज चल रहा है तथा दूसरे का इलाज स्थानीय क्लीनिक में चल रहा है दोनों की स्थिति ठीक बताई गई.

 

साथ ही जिला स्तर से अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. किशोर कुमार, जिला संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. रवि रंजन, जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉक्टर महेंद्र प्रताप, मदनपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ यतीन्द्र प्रसाद, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आयुष्मान, स्टाफ नर्स, एएनएम एवं आशा के द्वारा चिकित्सकीय कैंप के माध्यम से लगातार निगरानी की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page