औरंगाबाद

प्रथम सी डी एस के निधन पर शोक सभा का आयोजन,जनेश्वर विकास केंद्र ने परमवीर चक्र एवं भारत रत्न देने की मांग

औरंगाबाद। सदर प्रखंड स्थित औरंगाबाद के अधिवक्ता संघ भवन के प्रांगण में जिले की महत्वपूर्ण सामाजिक संस्था जनेश्वर विकास केंद्र,जन विकास परिषद एवं आनुषंगिक इकाई साहित्य संवाद द्वारा भारत के प्रथम सीडीएस बिपिन रावत जी, मधुलिका रावत एवं अन्य जवानों के हेलीकॉप्टर दुर्घटना में आकस्मिक निधन पर एक शोक सभा का आयोजन किया गया।

 

प्रसिद्ध ज्योतिर्विद सह साहित्य संवाद के अध्यक्ष शिवनारायण सिंह के नेतृत्व में दो मिनट का मौन रखा गया एवं मृतक के आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई ।प्रथम सीडीएस रहते उन्होंने भारत के रक्षा तैयारियों में कालजई कार्य किए थे । धारा 370 हटाने में, सर्जिकल स्ट्राइक करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी।

 

उनके असामयिक निधन से पूरे हिंदुस्तान को अपूरणीय क्षति हुई है। निकट भविष्य में इसकी भरपाई नहीं की जा सकती। शोक सभा में संस्था के लोगों ने प्रस्ताव पारित किया कि बिपिन रावत जी को सर्वोच्च सैनिक सम्मान परमवीर चक्र एवं सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न दिया जाए।

 

आज के शोक सभा में जनेश्वर विकास केंद्र के केंद्रीय सचिव सिद्धेश्वर विद्यार्थी ,केंद्रीय अध्यक्ष रामजी सिंह,सिन्हा कॉलेज के प्रोफेसर डॉ संजीव रंजन, साहित्य संवाद के सचिव सुरेश विद्यार्थी,अधिवक्ता सुधीर कुमार सिंह,पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता उमाकांत मिश्रा, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष संजय कुमार सिंह, पंकज पांडेय, हरिलाल कुमार, मधुरेंद्र कुमार सिंह,समाजसेवी सुरेंद्र कुमार सिंह रामाश्रय सिंह, गोपाल राम, महाराणा प्रताप सेवा संस्थान के पूर्व सचिव अनिल कुमार सिंह, यसवंत कुमार सिंह, विनोद मालाकार सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page