औरंगाबाद

बालू के अवैध कारोबार से जुड़े औरंगाबाद के तत्कालीन एसडीपीओ के चार ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई की छापेमारी

औरंगाबाद।  बालू के अवैध उत्खनन और उसके कारोबार से जुड़े माफिया और अधिकारियों के खिलाफ बिहार सरकार काफी सख्त हैं और एक एक कर उनकी सम्पतियों की जांच कर रही है। दो दिन पूर्व सरकार ने औरंगाबाद में रहे तत्कालीन डीटीओ अनिल कुमार सिन्हा के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी।

 

इस सिलसिले में औरंगाबाद के पूर्व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार के कई ठिकानों पर आज बुधवार को छापमारी की जा रही है।आर्थिक अपराध इकाई की टीम अनूप कुमार के पटना के भूतनाथ रोड एवं कंकड़बाग स्थित आवास, गया के नूतन नगर रोड स्थित पैतृक आवास तथा रांची अवस्थित लव कुश अपार्टमेंट के फ्लैट की तलाशी हो रही है।

 

गौरतलब है कि सरकार को औरंगाबाद सदर के तत्कालीन अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार का अवैध बालू उत्खनन के धंधे में  संलिप्त होने की भूमिका प्रकाश में आई थी एवं उनके द्वारा आय से अधिक परिसंपत्ति अर्जित किए जाने के संबंध में सूचना प्राप्त हुई थी।बालू माफिया से संबंध रखने के आरोप में औरंगाबाद के तत्कालीन अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार को सरकार ने कार्रवाई करते हुए वहां से हटा दिया था।

 

 

प्राप्त सूचना के आलोक में सरकार द्वारा किए गए सत्यापन के बाद आय से अधिक परिसंपत्ति अर्जित किए जाने के तथ्य की पुष्टि होने पर उन पर अप्रत्यानुपतिक धनार्जन आरोप में आर्थिक अपराध थाना कांड संख्या 29/2021  दिनांक 13.12.2021 के अंतर्गत धारा 13(2) सह पठित धारा 13(1)(b) भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम 1988 यथा संशोधित 2018 दर्ज कर न्यायालय से तलाशी अधिपत्र प्राप्त की गई।

 

न्यायालय से प्राप्त आदेश के बाद निवर्तमान अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार के चार ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई की टीम छापेमारी कर रही है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जांच टीम को अवैध संपत्ति जमा करने से संबधित कई सबूत मिल रही है।

 

बताते चले कि अवैध बालू से संबंधित खबरों को emaatimes में लगातार पब्लिश करने के कारण तत्कालीन अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार ने कुंडली खंगालने की बात भी कही थी।इतना ही नही इनके पूर्व एसडीपीओ रहे पीएन साहू ने बालू के कारोबार में दो ट्रक तक चलने की पुष्टि तत्कालीन एसपी सत्य प्रकाश को की और जेल भेजे जाने की बात कही थी।लेकिन दोनों पुलिस पदाधिकारियों ने पूरी इंक्वायरी कर ली और उन्हें कुछ भी हासिल नही हुआ।बल्कि वे खुद को फसता हुआ देख इससे अलग हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page