औरंगाबाद

जिला विधिक संघ चुनाव को लेकर न्यायालय परिसर में चरम पर है चुनावी चर्चा

औरंगाबाद। व्यवहार न्यायालय के विधिक संघ के 22 पदों के लिए आगामी 23 दिसम्बर को होने वाले चुनाव की तैयारी जोरों पर है और चुनावी मैदान में खड़े प्रत्याशियों के द्वारा संपर्क अभियान एवं अधिवक्ता मतदाताओं को अपने प्रभाव में करने की प्रक्रिया चरम पर है। चुनाव को लेकर न्यायालय के वादों की सुनवाई से अधिक संघ में विभिन्न पदों पर खड़े उम्मीदवार के व्यवहार एवं उसकी कार्य क्षमता की चर्चा होते देखी जा रही है।

 

 

बढ़ते ठंड में भी सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक व्यवहार न्यायालय परिसर में काफी गहमागहमी रह रही है और सभी प्रत्याशी मतदाताओं को अपने अपने पक्ष में रिझाने में लगे हुए हैं। अध्यक्ष एकल पद पर चार उम्मीदवार हैं जो मतदाताओं से प्रतिदिन सम्पर्क बनाए हुए हैं। महासचिव एकल पद पर सात उम्मीदवार अपनी किस्मत अजमा रहे हैं। उपाध्यक्ष पद पर पांच अभ्यार्थी है लेकिन इनमें से तीन अधिवक्ताओं को ही चुना जाना है।

 

 

कोषाध्यक्ष और निगरानी एकल पर चार चार अभ्यार्थी जोर आजमाईश में लगे हुए हैं। कौन विजेेता बनेगा यह तो 23 दिसम्बर को हुए मतदान के बाद 25 को होने वाली मतगणना के बाद पता चलेगा। संंघ में संयुक्त सचिव के तीन पद हैं और इन तीन पदों के लिए दस प्रत्याशी अधिवक्ताओं ने नामांकन किया और किसी ने भी नाम वापस नहीं लिया है। सहायक सचिव के तीन पदों पर सात उम्मीदवारो ने अपनी उम्मीदवारी पेश की है। पुस्तकालय अध्यक्ष एकल पद पर दो उम्मीदवार हैं जिससे एक महिला अधिवक्ता उम्मीदवार हैं।

 

 

कार्यसमिति सदस्य के साथ सदस्यीय टीम के लिए आठ उम्मीदवार खड़े हैं और अपने पक्ष में अधिक से अधिक मतदान के लिए मतदाताओं में ज़ोर शोर से प्रचार कर रहे हैं। अधिकांश अभ्यार्थी अधिवक्ता अपने अपने जीत के प्रति आश्वस्त दिख रहे हैं। अभ्यार्थी अधिवक्ता सभी मतदाताओं से मिलकर, पम्पलेट बांट कर,घर जाकर अपने अपने पक्ष में वोट की अपील कर रहे हैं।इसको लेकर प्रत्याशियों द्वारा अपने प्रचार प्रसार के लिए सोशल मीडिया का खुब उपयोग किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page