औरंगाबाद

सामाजिक समरसता को तार तार करने पर आमादा है मांझी-अश्वनी तिवारी

औरंगाबाद। भाजपा जिला प्रवक्ता अश्वनी कुमार तिवारी ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा है कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी के द्वारा सनातन धर्म एवं ब्राह्मण समुदाय पर की गई टिप्पणी अति निंदनीय है।पूर्व मुख्यमंत्री श्री मांझी शायद भूल रहे हैं कि इस संसार मे ब्राह्मण समुदाय सभी वर्ग एवं वर्णों को एक सूत्र में बांधकर समाज का निर्माण करने में अपनी महती भूमिका अदा की है। ब्राह्मणों ने अपनी जाति से ऊपर उठकर इस जगत के कल्याण करने वाले धर्म की रक्षा करने वाले चाहे वह किसी भी जाति के हो उनको सम्मानित करने का काम किया है। ब्रहाण अपने लिए नहीं बल्कि संसार के लिए जीता है।

 

 

श्री तिवारी ने कहा कि जीतन राम मांझी जी आपके द्वारा दी गई बयान अति निंदनीय एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। मुझे ऐसा लगता है कि आपने शराब के नशे में आकर इस तरह का बयान दिया है। इसलिए माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी सर्वप्रथम जीतन राम मांझी का नारको टेस्ट कराएं कि वह हकीकत में होशो हवास में इस तरह का बयान दिए हैं या शराब के नशे में।  नीतीश कुमार जी यदि आगे की राजनीति करना चाहते हैं तो अभिलंब ऐसे दुराचारी एवं समाज विरोधी जो समाज को तोड़ने का काम कर रहा है, जो राष्ट्र की एकता अखंडता और संप्रभुता को पैरों तले रौंदने का काम कर रहा है। वैसे व्यक्ति पर तत्काल कार्रवाई करते हुए उनके बेटे संतोष मांझी को मंत्रिमंडल से तत्काल बर्खास्त किया जाए तथा एनडीए से जीतन राम मांझी को बाहर निकाला जाए।

 

 

श्री तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इस गंभीर विषय पर तत्काल संज्ञान ले वरना इसका खामियाजा आने वाले चुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ सकता है इसलिए भाजपा का शीर्ष नेतृत्व आगे आकर नीतीश कुमार पर दबाव बनाए और जीतन राम मांझी जैसे नीच दुराचारी पापी नेता को एनडीए से बाहर का रास्ता दिखाएं।श्री तिवारी ने कहा कि हम पार्टी से जुड़े हुए सभी ब्राह्माण जाति के नेताओं को तत्काल जीतन राम मांझी का बहिष्कार करना चाहिए। क्योंकि ब्राह्मण सिर्फ सम्मान का भूखा होता है और जहा सम्मान नही वहा रहने का कोई औचित्य नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page