औरंगाबाद

रात तो दूर दिन के उजाले में किया जा रहा है बालू का अवैध उत्खनन

औरंगाबाद। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के द्वारा बिहार के समस्त बालू घाटों से बालू के उठाव पर प्रतिबंध लगाया गया है।लेकिन प्रतिबंध के बावजूद भी बिहार के बालू घाटों पर अवैध उत्खनन जारी है और यह अवैध उत्खनन औरंगाबाद में भी धड़ल्ले से चल रहा है। लेकिन इसकी रोकथाम के लिए प्रशासनिक कार्रवाई दिखाई नहीं पड़ रही है।

 

बेशक जिला पदाधिकारी एवं एसपी के तमाम बैठकों में अधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को इस पर रोक लगाने के निर्देश जारी तो जरूर किए जाते हो परंतु धरातल पर वे निर्देश सफल होते नहीं दिख रहे हैं। अभी 2 दिन पूर्व ही मासिक अपराध गोष्ठी में औरंगाबाद के एसपी कांतेश कुमार मिश्रा द्वारा सभी थानाध्यक्षों को अवैध बालू उत्खनन पर नकेल कसने की सख्त निर्देश दिए गए थे लेकिन वह निर्देश ढाक के तीन पात वाली कहावत को चरितार्थ करती नजर आ रही है।

 

ऐसा ही एक मामला दाउदनगर के केरा नान्हू बिगहा बालू घाट संख्या 26 से सामने आई है। जहां रात तो दूर दिन के उजाले में बालू के अवैध कारोबार से जुड़े हुए कारोबारियों के द्वारा धड़ल्ले से बालू का उठाव किया जा रहा है। सूत्रों की माने तो दिन के उजाले में बेखौफ होकर ऐसी कार्रवाई कैसे हो रही है यह समझ से परे है।

 

इधर इस संबंध में जब जिलाधिकारी सौरव जोरवाल से बात की गई उन्होंने कहा कि अवैध बालू उत्खनन को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है और बीती रात को भी विभिन्न घाटों पर हुई छापेमारी कई लोग पकड़े गए हैं।यदि उक्त बालू घाट पर ऐसी कार्रवाई हो रही है तो निश्चित बालू के अवैध कारोबारी पकड़े जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page