औरंगाबाद

औरंगाबाद के नॉर्थ कोयल कॉलोनी कार्यालय परिसर में गोप गुट ने अपनी मांगों को लेकर दिया धरना

औरंगाबाद। “मौसमी-कर्मी, कॉन्ट्रैक्ट-कर्मी,दैनिक वेतनभोगी-कर्मी और मानदेय-कर्मी राज्यकर्मियों के समुदाय में सबसे ज्यादा शोषित-उत्पीड़ित तबके हैं, जिनकी समस्याओं के समाधान के लिए होनेवाले संघर्षों को महासंघ (गोप गुट) सर्वोच्च प्राथमिकता देता है ।”-उक्त बातें बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) के जिला सचिव- सत्येन्द्र कुमार ने सोमवार को नॉर्थ कोयल परिसर स्थित सिंचाई विभाग परिक्षेत्र कार्यालय के प्रांगण में आयोजित स्थानीय कर्मचारियों के कंवेंशन को संबोधित करते हुए कही ।

 

उन्होंने कहा कि सभी राज्य-कर्मियों को महासंघ के बैनर तले जुझारू और धारावाहिक संघर्ष में उतरने के लिए कमर कसकर तैयार रहना होगा क्योंकि आज तक हमने जो कुछ भी मांगें और सुविधाएं हासिल की हैं वह हमारा या हमारे पूर्वजों के संघर्षों का ही प्रतिफल है न कि किसी सरकार विशेष की कृपा का प्रसाद ! उन्होंनेआगे कहा कि भविष्य में भी हम अपने संघर्षों के दम पर ही अपने सभी प्रकार के अधिकार हासिल करेंगे बशर्ते कि हम अपने संघों-महासंघों को मजबूत और गतिशील बनाकर रखें ।

 

इस कंवेंशन को संबोधित करते हुए महासंघ (गोप गुट), के जिला अध्यक्ष- रामईशरेश सिंह ने कहा कि राज्य कमिटी के आह्वान पर आगामी 31 अगस्त 2022 को जिला मुख्यालय में होने वाले प्रदर्शन में जितनी भारी संख्या में कर्मचारियों एवं शिक्षकों की भागीदारी होगी; अपनी मांगों को सरकार से मनवा पाने में हमें उतनी हीं बड़ी सफ़लता हासिल होगी । इसी तरह से 01 सितम्बर 2022 को औरंगाबाद जिला और पूरे राज्य के जितने कार्यालयों और विद्यालयों में काला-बिल्ला लगाकर कार्य होगा और टिफिन-टाइम में जितनी जोरदार नारेबाजी होगी उतना ही ज्यादा सरकार पर दबाव बढ़ेगा और वह हमारी मांगें मानने को बाध्य होगी ।

 

इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महासंघ (गोप गुट) से संबद्ध बिहार राज्य सिंचाई विभाग मौसमी कर्मचारी संघ,औरंगाबाद के सचिव अर्जुन प्रसाद सिंह ने कहा कि आगामी 31 अगस्त 2022 को औरंगाबाद जिला मुख्यालय पर होनेवाले प्रदर्शन में कम से कम 500 की संख्या में मौसमी कर्मचारी भाग लेंगे । उन्होंने 01 सितंबर 2022 को काली पट्टी बांधकर काला दिवस मनाने तथा उस दिन टिफिन-टाइम में नारेबाजी करने के कार्यक्रम को भी मजबूती से लागू करने के लिए मौसमी कर्मचारियों का आह्वान किया ।

 

इस कंवेंशन को संबोधित करते हुए बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ(गोप गुट) ‘मूल’ के जिला सचिव अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि यदि एनपीएस खत्म कर के पुराना पेंशन लागू करने,कॉन्ट्रैक्ट,मानदेय और मौसमी कर्मियों की सेवा नियमित करने तथा नियमित कर्मियों को एमएसीपी और पद-प्रोन्नति देने,इत्यादि अनेक मांगें हासिल करनी है तो आगामी 31 अगस्त 2022 को औरंगाबाद जिला मुख्यालय पर होनेवाले प्रदर्शन में हजारों की संख्या में शिक्षक-कर्मचारी भाग लें तथा 01 सितम्बर 2022 को सभी कार्यालयों-विद्यालयों में काला-दिवस(ब्लैक-डे) को भी शानदार ढंग से सफल बनाएं ।

 

इनके अलावा इस कंवेंशन को महासंघ के जिला यू कोषाध्यक्ष-बिनोद कुमार,पंचायत सेवक संघ के नेता- ज्ञान प्रकाशआई बेक,मौसमी कर्मचारी संघ के कोषाध्यक्ष- देवपूजन प्रसाद, उपाध्यक्ष-अजय कुमार सिंह ने भी इस कार्यक्रम को संबोधित किया । इस कार्यक्रम में कर्मी बड़ी संख्या में विभिन्न विभागों के स्थानीय राज्य कर्मियों ने भाग लिया । सभी लोगों ने सर्वसम्मति से औरंगाबाद प्रखंड से आगामी 31 अगस्त 2022 को हजारों की संख्या में कर्मचारियों को जिला मुख्यालय पर होनेवाले प्रदर्शन में भागीदारी कराने का निर्णय लिया तथा आगामी 01 सितंबर 2022 को काला दिवस मनाने के कार्यक्रम को शानदार ढंग से सफल बनाने का निर्णय लिया ।

 

इसके अलावा 10 नवंबर 2022 तक महासंघ का न्यूनतम 1000 सदस्य बनाने का भी निर्णय लिया गया ।इस कंवेंशन की अध्यक्षता मौसमी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष- देवगीर यादव तथा संचालन संघ के सचिव-अर्जुन प्रसाद सिंह ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page