औरंगाबाद

लोजपा नेता प्रमोद सिंह ने अपनी निजी राशि से बनवा दी दो किलोमीटर की सड़क,ग्रामीणों की परेशानी हुई दूर

सड़क निर्माण के पश्चात ग्रामीणों ने किया प्रमोद सिंह का अभिनंदन

औरंगाबाद। किसी शायर ने सही कहा है कि कहो नाखुदा से कि लंगर हटा लीं तूफान की जिद देखना चाहता हूं। शायर के इसी शायरी से प्रेरणा लेकर रफीगंज विधानसभा क्षेत्र से दो दो बार चुनाव लड़ चुके लोजपा नेता प्रमोद सिंह ने रफीगंज प्रखंड क्षेत्र के गरवा मोड़ से मिशिर बिगहा तक दो किलोमीटर सड़क मरम्मती का कार्य कर एक मिशाल कायम किया है और लोगों को यह प्रेरणा दी है कि यदि इच्छाशक्ति दृढ़ हो तो कोई भी कार्य संभव नहीं।

 

श्री सिंह के द्वारा सड़क मरम्मती कराए जाने के बाद मंगलवार को ग्रामीणों ने उनके सम्मान में एक स्वागत समारोह का आयोजन किया। जिसकी अध्यक्षता वार्ड सदस्य रौशन मिश्रा एवं मंच का संचालन पोगर के गायक अनुराग पाठक ने किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद प्रमोद सिंह ने इस आयोजन का  उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर एवं फीता काटकर किया। उद्घाटन के पश्चात ग्रामीणों ने उनका स्वागत अंग वस्त्र, माला एवं गुलदस्ता देकर सम्मानित किया।

 

उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए वार्ड सदस्य श्री मिश्रा ने कहा कि इस सुदूरवर्ती इलाके में आजादी के 75 साल तक ग्रामीण पंचायत चुनाव,विधानसभा चुनाव या फिर लोक सभा चुनाव हो हमेशा वोट देने का कार्य किया। चुनाव के दौरान इस दो किलोमीटर सड़क के निर्माण को लेकर आश्वासन की झाड़ियां भी लगाई गई। लेकिन समस्या यथावत रही और ग्रामीण इस समस्या से प्रतिदिन गुजरते रहे। स्थिति या हो गई कि बरसात के दिनों में किसी की भी तबियत खराब हो जाती तो उन्हें इलाज के लिए खाट पर टांग कर अस्पताल के लिए ले जाना पड़ता। इस सड़क के निर्माण के लिए प्रतिनिधियो को ग्रामीणों के द्वारा बराबर ध्यान आकृष्ट कराया जाता रहा। परंतु किसी ने ध्यान नहीं दिया।

 

इसी बीच प्रमोद कुमार सिंह की नजर गांव की समस्या पर पड़ी और ग्रामीणों के आग्रह पर ये मसीहा बनकर आए और इस समस्या को अपनी समस्या समझते हुए दो किलोमीटर की सड़क को बनवाकर न सिर्फ सड़क को कीचड़मुक्त करवाया।बल्कि जलालत भरी जिंदगी जीने से भी मुक्त कराया।इसके लिए सभी ग्रामीण इनके प्रति आभारी हैं।

 

अपने संबोधन में प्रमोद सिंह ने कहा कि कार्य कोई भी बड़ा नही होता बल्कि उसके लिए दिल बड़ा होना चहिए।जर्जर और कीचड़युक्त सड़क की समस्या की जानकारी जब प्राप्त हो गई।तब वह समस्या मेरी अपनी हो गई। क्योंकि सभी ग्रामीण मेरे अपने है।प्रशासनिक एवं राजनीतिक नुमाइंदो की उदासीनता के कारण ग्रामीण परेशान हो गए। तो इस कार्य को दृढ़ संकल्पित होकर किया। आज ग्रामीणों के चेहरे की प्रसन्नता मुझे आह्लादित कर रही है।

 

श्री सिंह ने कहा कि हम अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के सिपाही है और हम सभी को मिलकर उनके हाथ को मजबूत करना है।अगर बिहारवासियों ने सहयोग किया तो न सिर्फ भ्रष्ट पदाधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी बल्कि हर क्षेत्र, हर कस्बा में विकास दिखेगा। श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान विधायक किसी खास समुदाय के प्रति काफी ध्यान दे रहे हैं। छोटे आबादी वाले गांवों में प्रतिनिधियों का ध्यान नहीं जाता। केवल जिस गांव में ज्यादा वोट रहता है उसी गांव में योजनाएं दी जाती है। ताकि उन्हें ज्यादा वोट मिल सके।

 

इस मौके पर प्रोफेसर संतोष कुमार सिंह, निखिल कुमार सिंह, सुधीर कुमार सिंह, रामानुज मिश्रा, सतीश चंद्रवंशी, निरंजन विश्वकर्मा, रोशन मिश्रा, लाल मोहन मिश्रा, गणेश राम, धीरज मिश्रा ,शत्रुघ्न रवानी, कन्हाई राम ,रामलाल राम, मनीष राम, विंध्याचल मिश्र, नीरज कुमार मिश्रा, अक्षय मिश्र, राम जीत राम, राजकुमार राम, राम विलास मिश्र, राधा रमण मिश्र, मदन मोहन मिश्र, श्रीकांत मिश्र, महेंद्र मिश्र, पप्पू, नागेंद्र मिश्र, राम वरण मिश्रा, रंजन मिश्र, महेश राम, परशुराम राम सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page