औरंगाबाद

जिलाधिकारी ने निबंधन कार्यालय का किया निरीक्षण,दिया कई निर्देश

औरंगाबाद। जिला पदाधिकारी सौरभ जोरवाल एवं सहायक समाहर्ता शुभम कुमार द्वारा जिला निबंधन कार्यालय औरंगाबाद का औचक निरीक्षण किया गया। निबंधन कार्यालय पहुँच कर सर्व प्रथम जिला पदाधिकारी ने उपस्थित नागरिकों से बातचीत की और किसी भी प्रकार की समस्या के बारे में पूछा।

 

पिछले निरीक्षण के दौरान जिला पदाधिकारी द्वारा नागरिकों के लिए शेड और पंखा लगाने का निर्देश दिया गया था। जिला अवर निबंधक द्वारा बताया गया कि उक्त आदेश का अनुपालन हो गया है। कार्यालय के काउंटर के सम्पूर्ण भाग में स्कोर की राशि से शेड का निर्माण कर दिया गया और पंखा इत्यादि की भी व्यवस्था कर दी गई है।

 

कार्यालय के बाहर के मार्ग की भी मरम्मती करवा दी गई है। सेल्स टैक्स के कार्यालय से नाली एक और निकलती है जिससे जलजमाव होता है, जिसकी मरम्मती भी शीघ्र करवा दी जाएगी। इसके अतिरिक्त आगंतुकों के लिए पेयजल की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया गया था, जिसका अनुपालन कर दिया गया है।

 

जिला पदाधिकारी द्वारा नागरिकों से बातचीत की गई और उनसे कार्यालय के आसपास किसी प्रकार की समस्या होने अथवा किसी व्यक्ति द्वारा परेशान किए जाने के बारे में पूछा गया। सभी नागरिकों द्वारा किसी प्रकार की शिकायत से इंकार किया गया। जिला अवर निबंधक द्वारा बताया गया कि इस कार्यालय में एक अवर निबंधक के अलावा एक कार्यालय अधीक्षक, एक प्रधान लिपिक, एक निम्न वर्गीय लिपिक एवं तीन कार्यालय परिचारी कार्यरत हैं।

 

कार्यालय में दस्तावेजों का निबंधन कंप्यूटराइज्ड पद्धति(स्कोर) द्वारा किया जाता है जिसके लिए 7 कंप्यूटर ऑपरेटर एवं चार कार्यपालक सहायक कार्यरत हैं। किसी भी अनावश्यक व्यक्ति को कार्यालय में प्रवेश की अनुमति नही रहती है तथा लंबित वादों कि प्रतिदिन समीक्षा अपर मुख्य सचिव महोदय द्वारा भी की जाती है।

 

जिला पदाधिकारी द्वारा कार्यालय प्रधान एवं कार्यालय कर्मियों की उपस्थिति के बारे में पूछताछ की गई तथा सहायक समाहर्ता को प्रत्येक काउंटर एवं अभिलेखागर का निरीक्षण करने के लिए कहा गया। जिसके आलोक में सहायक समाहर्ता द्वारा कार्यालय परिसर, कंप्यूटर कक्ष, अभिलेखागार, निबंधन की प्रक्रिया, सीसीटीवी कैमरा इत्यादि का निरीक्षण किया गया।

 

अंत में जिला पदाधिकारी द्वारा कहा गया कि किसी भी परिस्थिति में तैयार दस्तावेज वितरण हेतु लंबित नही रहने चाहिए। इस संबंध में किसी भी शिकायत को अत्यंत गंभीरता से लिया जायेगा। सभी लंबित दस्तवेजो को यथाशीघ्र डिलीवरी कराने एवं प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page