पटना

कोविड 19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए 31 दिसम्बर से 2 जनवरी तक बंद रहेंगे राज्य के सभी पार्क, नए साल पर पार्क में नहीं मना पाएंगे पिकनिक

देश भर में कोविड (Covid-19) के बढ़ते खतरे को देखते हुए अब बिहार सरकार ने भी नए ओमिक्रोन वेरिएंट (Omicron Variant) के खिलाफ सख्त कदम उठाने का मन बना लिया है. बिहार राज्य के गृह विभाग ने इसी वजह से नए साल में होने वाले जश्न को लेकर एक नया आदेश जारी किया है.

पटना। देश भर में कोरोना के बढ़ते मामले एवं कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ऑमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए अलर्ट जारी है. कोरोना के संभावित तीसरी लहर को देखते हुए सरकार और स्वास्थ्य विभाग अतिरिक्त सतर्कता बरत रहा है. कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू समेत अन्य प्रतिबंध लगाए गए हैं. इसी क्रम में बिहार सरकार ने कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए सख्ती बढ़ाने का फैसला लिया है. बिहार सरकार के गृह विभाग ने नए साल में चिड़ियाघर समेत राज्य के सभी पार्कों और उद्यानों को बंद रखने के संबंध में आदेश जारी किया है. साथ ही कोरोना प्रोटोकॉल को सख्ती पालन करने की भी बात कही गई है.

  

गृह  विभाग की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना महामारी के संक्रमण की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए ये निर्णय लिया गया है कि राज्य के सभी पार्क और उद्यान (जैविक उद्यान सहित) 31 दिसंबर, 2021 से दो जनवरी, 2022 तक पूरी तरह से बंद रहेंगे. इसके अलावा सभी प्रकार के सामाजिक/राजनीतिक/मनोरंजन/खेल-कूद/शैक्षणिक/सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजनों/कार्यक्रमों में उपस्थित व्यक्तियों द्वारा मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग इत्यादि कोविड अनुकूल व्यवहार और अद्यतन मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) का अनिवार्य रूप से अनुपालन करना जरूरी होगा. ये सुनिश्चित कराने का दायित्व आयोजन/कार्यक्रम के प्रबंधक का होगा.

तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज

बता दें कि बिहार में कोरोना वायरस (Coronavirus) के एक्टिव मरीजों की संख्या सोमवार को 100 के पार पहुंच गई. रविवार से लेकर सोमवार के बीच हुई जांच के बाद आई रिपोर्ट में कुल 26 नए केस मिले हैं. इनमें सबसे अधिक पटना से मिले हैं. इसके पहले बिहार में एक्टिव मरीजों की संख्या 98 थी. सोमवार को 26 नए मरीजों के आने के बाद कुल आंकड़ा 116 हो गया है. 24 घंटे में सात लोग स्वस्थ भी हुए हैं. कई महीनों के बाद जाकर बिहार में एक्टिव मरीजों की संख्या 100 के पार पहुंची है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page