पटना

वुमनिश 2022 : डा. नम्रता आनंद को मिला सम्मान

पटना। राजकीय-राष्ट्रीय सम्मान से अंलकृत समाजसेविका-शिक्षिका और दीदीजी फाउंडेशन की संस्थापिका डा. नम्रता आनंद को सामाजिक संगठन भूमिका बिहार और चंद्रगुप्त इंस्टीच्यूट ऑफ मैनेजमेंट पटना के संयुक्त तत्वाधान में, छात्रों के लिए लिंग और पारिस्थितिक अधिकार के विषय पर वुमनिश 2022 कार्यक्रम में सम्मानित किया गया।

 

राजधानी पटना के चंद्रगुप्त इंस्टीच्यूट ऑफ मैनेजमेंट पटना के सभागार में वुमनिश 2022 का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अलग-अलग क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले 15 विभूतियों को सम्मानित किया गया। सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये डा. नम्रता आनंद को जी बिहार झारखंड के संपादक, श्री स्वयंप्रकाश ने मोमेंटो और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया। डा.नम्रता आनंद ने सम्मान मिलने पर खुशी जाहिर की और इसके लिये भूमिका बिहार की डायरेक्टर सुश्री शिल्पी सिंह का का शुक्रिया अदा किया है।

डॉ नम्रता आनंद ने कहा कि महिलायें आज अपने कौशल, आत्मविश्वास और शिष्टता के आधार पर दुनिया की किसी भी चुनौती को संभालने में सक्षम हैं। वे आगे आ रहीं हैं और अपने परिवारों, अन्य महिलाओं और समाज के लिए शांति और सकारात्मक सामाजिक परिवर्तन के अग्रदूत के रूप में स्थापित कर रही हैं। सामाजिक असमानता, पारिवारिक हिंसा, अत्याचार और आर्थिक अनिर्भरता इन सभी से महिलाओं को छूटकारा पाना है तो जरूरत महिला सशक्तिकरण की है।

 

हमारे आदि – ग्रंथों में नारी के महत्त्व को मानते हुए यहाँ तक बताया गया है कि “यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:” अर्थात जहाँ नारी की पूजा होती है, वहाँ देवता निवास करते है।महिला सशक्तिकरण का अर्थ महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है, जिससे उन्हें रोजगार, शिक्षा, आर्थिक तरक्की के बराबरी के मौके मिल सके, जिससे वह सामाजिक स्वतंत्रता और तरक्की प्राप्त कर सके।

 

उल्लेखनीय है कि डा.नम्रता आनंद को केन्द्रीय चयन समिति ने वर्ष 2004 में राष्ट्रीय विकास और सामाजिक सेवा में किये गये उत्कृष्ठ कार्य के लिये राष्ट्रीय यूथ अवार्ड सम्मान से सम्मानित किया है। वर्ष 2019 में उन्हें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार की सर्वश्रेष्ठ 20 शिक्षकों में सम्मानित किया।वर्ष 2021 में डा: नम्रता आनंद ने कुरथौल के फुलझड़ी गार्डेन में संस्कारशाला की स्थापना की। संस्कारशाला के माध्यम से गरीब और स्लम एरिया के बच्चों का नि.शुल्क शिक्षा, संगीत, सिलाई-बुनाई और डांस का प्रशिक्षण दिया जाता है।डा. नम्रता आनंद को करियर के दौरान मान सम्मान बहुत मिला है।

 

इन सम्मानों में विस्मिल्ल खान सम्मान, महादेवी वर्मा सम्मान,कर्मयोगी महिला सम्मान, नारी रत्न अवार्ड, युवा सम्मान, छात्र सम्मान, राजीव गांधी समररसता अवार्ड,बेस्ट वालिनटेयर अवार्ड ,एनएसएस, इंदिरा गांधी समरसता अवार्ड, अंतर्रार्ष्टीय समरसता यूनिटी गोल्ड मैडल, महिला शक्ति सम्मान स्वर्ण पदक, इंडो-नेपाल समरसता अवार्ड, इंडो-नेपाल एकता अवार्ड, समाज रत्न अवार्ड, काठमांडू-नेपाल अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड, स्वामी विवेकानंद अवार्ड, नेशनल प्राइड अवार्ड, लाल बहादुर शास्त्री सम्मान, सेवा रत्न सम्मान, कोरोना वारियर्स सम्मान, इंसपिरेशन वुमेन अवार्ड,शिक्षा विभूति सम्मान, अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण वारियर अवार्ड शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page