पटना

छठ व्रतियों के बीच साड़ी-सूप, नारियल और पूजन सामग्री का वितरण

पटना। लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर समाज सेविका और पटना महापौर की प्रत्याशी श्रीमती बिनीता कुमारी के द्वारा पटना में कई जगहों पर छठ व्रतियों के बीच नारियल, सूप, साड़ी एवं धूपअगरबत्ती का वितरण किया गया।

 

पटना नगर निगम की महापौर पद प्रत्याशी विनीता कुमारी, सामाजिक कार्यकर्ता राजेश कुमार उर्फ डब्लू श्रीवास्तव ,दीदीजी फाउंडेशन की संस्थापिका डॉ नम्रता आनन्द और समाजसेवी नवनीत विजय ने संयुक्त रूप से राजधानी पटना के अलग-अलग इलाकों में छठ व्रतियों के बीच साड़ी-सूप, नारियल और पूजन सामग्री का वितरण किया। लोदी कटरा में पूर्व वार्ड पार्षद धर्मेंद्र कुमार मुन्ना एवं स्थानीय सदस्यगण उपस्थित थे।

 

अशोक नगर में स्थानीय सदस्यगण एवं समाजसेवी नवनीत विजय उर्फ शैंकी, अतुल आनंद सन्नू, मधुप कुमार पिक्कू, सौरभ जयपुरीयार, कौशल नगर में स्थानीय सदस्यगण के साथ सभी जगहों पर मेयर प्रत्याशी बिनीता कुमारी के साथ उनके दल के सदस्यों में रतन कुमार सिन्हा,आनंद, प्रिया, अंकित कुमार आदि सम्मिलित थे।

 

इस अवसर पर विनीता कुमारी ने सभी लोगों को छठ की शुभकामना देते हुये कहा कि छठ लोक आस्था का पर्व है। छठ केवल पर्व ही नहीं महापर्व भी है। यह चार दिनों तक चलता है। छठ पर्व अनेकता में एकता संग स्वच्छता का परिचायक है।महापर्व छठ के मायने प्रकृति, समाज, परिवार, शुद्धता और स्वच्छता हैं।

 

राजेश कुमार ने कहा,पारिवारिक सुख- समृद्धि तथा मनोवांछित फल प्राप्ति के लिए छठ पर्व मनाया जाता है। प्रकृति से प्रेम, सूर्य और जल की महत्ता का प्रतीक छठ पर्व हमें प्रकृति से जोड़ते हुए पूरे समाज को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है।

 

समाजसेवी डा. नम्रता आनंद ने कहा, छठ पर्व सूर्योपासना का पर्व है। इस दिन सूर्यदेव की अराधना करने से व्रती को सुख, सौभाग्य और समृद्धि की प्राप्ति होती है और उसकी सभी मनोकामनाएंपूरी होती हैं। प्रकृति से जुड़े इस पर्व में ऊंच-नीच का भेद मिट जाता है। छठ अब बिहार की बात नहीं रही। इसे उत्तर प्रदेश, झारखंड और बंगाल समेत कई राज्यों में बड़े ही आस्था के साथ मनाया जा रहा है।

 

नवनीत विजय ने कहा कि सभी लोग महापर्व को मिल-जुलकर आपसी प्रेम, पारस्परिक सद्भाव और शांति के साथ मनायें। जो लोग भक्त‌ि भाव से छठी मैया की पूजा करता है उनकी सभी मनोकामना मैय्या पूरी करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page