पटना

सितंबर माह में नगर निकाय चुनाव का बजेगा बिगुल

अक्टूबर में होंगे चुनाव, 2 चरणों में संपन्न कराई जाएगी चुनावी प्रक्रिया

औरंगाबाद। काफी दिनों के इंतजार के बाद बिहार राज्य निर्वाचन आयोग में नगर निकाय चुनाव को लेकर तैयार हो चुका है और इससे संबंधित संकेत दे दिया है आयोग ने नगर निकाय चुनाव कैसे होंगे और कितने चरणों में कराए जाएंगे इसको लेकर सूचनाएं दी हैं। बताया जा रहा है कि चुनाव अक्टूबर में होंगे और इसे दो चरण में संपन्न कराया जाएगा। इससे पहले राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी प्रमंडलीय आयुक्तों व डीएम को चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार रहने को कह दिया है। सूत्रों के 248 शहरीनिकायों में से फिलहाल 224 शहरी निकायों में चुनाव कराए जाने की संभावना है और शेष 24 में बाद में चुनाव कराए जा सकते हैं।

राज्य सरकार के निर्णय का इंतजार सितंबर माह में जारी हो सकती है अधिसूचना

राज्य निर्वाचन आयुक्त डॉ.दीपक प्रसाद ने सोमवार को सभी प्रमंडलीय आयुक्तों व डीएम-सह-जिला निर्वाचन पदाधिकारी के साथ वीसी में सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को यह संकेत दे दिया कि सितंबर के पहले सप्ताह में चुनाव की घोषणा संभव है और उसको ध्यान में रखकर ही चुनाव की तैयारी शुरू कर दें। चुनाव दो चरणों में कराने की संभावना है।सूत्रों के अनुसार आयोग ने नगर विकास एव आवास विभाग को चुनाव की संभावित तारीख तय कर भेज दी हैं। माना जा रहा है कि सरकार जल्द ही उसपर निर्णय लेकर अधिसूचना जारी कर सकती है। बड़ी बात यह है कि राज्य सरकार ने पुरानेे आरक्षण के आधार पर ही चुनाव कराने का निर्णय लिया है। उसके बाद आयोग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है।

खराब ईवीएम बदलने के लिए मजिस्ट्रेट की होगी नियुक्ति

वोटिंग के दिन खराब ईवीएम को रिप्लेस करने के लिए प्रत्येक नगर पंचायत के दो वार्ड पर एक,नगर परिषद के एक वार्ड पर एक तथा प्रत्येक नगर निगम के एक वार्ड पर कम से कम दो सेक्टर मैजिस्ट्रेट की नियुक्ति की जाएगी। इसके अलावा भी कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। आयोग ने यह भी कहा है कि कुछ जिलों में नगरपालिका का चुनाव दो चरणों में कराया जा सकता है।

 

इस आधार पर भी जिले में कर्मियों की उपलब्धता एवं आवश्यकता के आधार पर मतदान तथा मतगणना कर्मियों का आकलन कर लें।  साथ ही आयोग ने चुनाव के मद्देनजर सभी डीएम को ईवीएम की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। जिन जिलों में ईवीएम उपलब्ध नहीं है वहां ईवीएम का मूवमेंट कराने के निर्देश दिए गए हैं।

अधिक से अधिक संख्या में चुनाव कर्मियों की व्यवस्था करने का दिया गया निर्देश

आयोग ने प्रमंडलीय आयुक्तों और डीएम को चुनाव के लिए अधिक संख्या में चुनावकर्मियों की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। आयोग ने कहा है कि इस बार पार्षद, उप मुख्य पार्षद और मुख्य पार्षद के पदों पर सीधे मतदान से चुनाव होगा। तीन पदों के लिए ईवीएम से चुनाव कराए जाने के कारण कम से कम तीन बैलेट यूनिट और तीन कंट्रोल यूनिट का उपयोग होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page