रोहतास

बिहार अग्निपथ उपद्रव के 2 मास्टरमाइंड गिरफ्तार, मिलिट्री ट्रेनिंग कोचिंग चलाते थे दोनों

दोनों साजिशकर्ताओं के कोचिंग क्लासेस को किया गया बंद, अब तक रोहतास जिले में 79 युवाओं की हुई गिरफ्तारी

रिपोर्ट – रंजन सिंह राजपूत

– गिरफ्तार होने वाले ज्यादातर युवा बाहरी,सेना भर्ती से कोई लेना देना नही

– गिरफ्तार युवा आरोपियों का आपराधिक रिकॉर्ड खंगाल रही है पुलिस

– मोबाइल वीडियो बनाकर फेसबुक, व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर किया गया वायरल

रोहतास। विगत 17 जून से बिहार के विभिन्न जिलों के साथ साथ रोहतास में भी अग्निपथ के विरोध को लेकर जमकर हंगामे हुए और टोल प्लाजा के साथ साथ कई सरकारी संपतियों को आग के हवाले कर दिया गया।लेकिन जिले के विभिन्न हिस्सों में हुए आगजनी, पथराव और उपद्रव की घटना के पीछे के चेहरों को रोहतास पुलिस ने बेनकाब कर दिया है और उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया है।

साथ ही साथ गिरफ्तार युवकों के तार कहां कहां जुड़े हुए हैं उसे भी पुलिस ढूंढ रही है।गिरफ्तार युवकों में काराकाट थाना क्षेत्र के मंगरा गांव निवासी मुन्ना राज तथा मधुबनी जिले के राजदेव यादव का पुत्र रमेश कुमार यादव शामिल है। मुन्ना यादव विक्रमगंज में मुन्ना गोल्ड एकेडमी तथा रमेश कुमार यादव रोहतास के काराकाट इलाके से परमार्थ ट्रस्ट नाम से मिलिट्री ट्रेनिंग कैम्प चलाता था। इन दोनों ने अपने अपने मिलिट्री ट्रेनिंग केम्प में शामिल लड़को को उकसाने का काम किया।

रोहतास एसपी आशीष भारती ने emaatimes से बात करने के दौरान बताया कि इन दोनों मुख्य अभियुक्तों ने युवा लड़को में मोबाइल वीडियो बनाकर वायरल करवाया और इन वीडियो के जरिये युवा लड़को में उपद्रव फैलाने का काम किया। पढ़ने वाले लड़को को भड़काया और जो लड़के भारतीय सेना में जाने की तैयारी कर रहे थे उन्हें हुड़दंग करवाने में लगवा दिया।एसपी ने बताया कि इन दोनों मुख्य साजिशकर्ता के द्वारा रोहतास के बिक्रमगंज इलाके में धरना प्रदर्शन करवाया गया। बिक्रमगंज के इस प्रदर्शन में बिक्रमगंज रेलवे स्टेशन पर रेलवे की संपत्तियों में आग लगाई गई,पुलिस पर पत्थरबाजी की गई जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हुए थे।

इस मामले में रोहतास पुलिस ने 10 एफआईआर दर्ज की है जिसमे कुल 79 लोग गिरफ्तार किए गए है।प्रिवेंटिव डिटेक्शन 33 लोगो का किया गया है।जब कि 2 कोचिंग सेंटर के संचालकों की गिरफ्तारी की गई है। एसपी ने बताया कि उपद्रव एवं हुडदंग मामले में अब तक रोहतास जिले में कुल 107 लॉज पर भी छापेमारी की गई है। जहाँ बाहरी जिले से आकर ये उपद्रवी छिपे हुये थे। हालांकि इन होटल का नाम अब तक पुलिस ने गुप्त रखा है और होटल संचालकों की भूमिका की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
You cannot copy content of this page