विविध

दुर्गा पूजा पंडालों में प्रत्याशियों के नही लगेंगे बैनर पोस्टर, नहीं बजेगा डीजे, कार्यक्रम पर भी लगी रोक, अनुमति से होगा भक्ति रामलीला का आयोजन

भीड़ नियंत्रण व यातायात पर काबू पाने के लिए बनी रणनीति, बैच लगाकर ही कार्य करेंगे वोलेंटियर, शांति समिति की बैठक में लिए गए कई महत्वपूर्ण निर्णय

 

कपिल कुमार, औरंगाबाद

इस बार दशहरा में डीजे पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। विभिन्न कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दी गई है। अनुमति लेने पर ही सिर्फ भक्तिमय कार्यक्रम आयोजित होंगे। रात 10:00 बजे तक ही ध्वनि विस्तारण होगा। डीजे का इस्तेमाल कहि नही होगा। खास बात यह है कि इस बार के दशहरा में प्रत्याशी एक आम नागरिक की तरह दिखेंगे। कहीं पर किसी का बैनर पोस्टर नहीं लगेगा। ना ही उनके नाम का कहीं कोई अनाउंसमेंट होगा। जो भी प्रत्याशी पूजा समिति से जुड़े हैं वह अपना प्रचार प्रसार पूजा पंडाल के माध्यम से नहीं करेंगे। सिर्फ एक आम कार्यकर्ता की तरह भागीदार बनकर कार्य को निभाएंगे। यह बातें गुरुवार को नगर थाना में आयोजित शांति समिति की बैठक में एसडीओ श्री विजयंत एवं एसडीपीओ गौतम शरण ओमी ने कहि। एसडीओ ने कहा कि औरंगाबाद शहर में 15 जगह पर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाती है। सभी पूजा समितियों का अलग-अलग रूल नियम है। दशहरा पर्व के दौरान भीड़ पर नियंत्रण रखना एवं यातायात नियमों का पालन करना सबसे महत्वपूर्ण कार्य है। उन्होंने बताया कि सप्तमी से बाजार में तीन पहिया व चार पहिए वाहनों पर प्रतिबंध रहेगा। विभिन्न चौक चौराहों पर सुरक्षाबलों की तैनाती रहेगी। पर्व के दौरान बिजली की संपूर्ण व्यवस्था रहेगी। नंगे तार को कवर करने के लिए बिजली विभाग के कर्मी तत्पर रहेंगे। कहीं भी  नंगे तार ना रहे इस पर विशेष ध्यान देंगे। पेयजल के लिए पीएचइडी विभाग तत्पर रहेगी। वहीं भीड़ भाड़ में किसी तरह की कोई परेशानी हुई तो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात रहेगी। भीड़ को नियंत्रण करने के लिए सभी पूजा पंडालों में सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे और बाजारों में श्रद्धालुओं व भीड़ पर काबू पाने के लिए सुरक्षा बल के जवान तैनात रहेंगे। अगर किसी तरह की कोई परेशानी हो तो तुरंत इसकी सूचना स्थानीय थाना व पदाधिकारी को करेंगे। पूजा पंडालों में वोलेंटियर बैच लगाकर ही श्रद्धालुओं को मदद करेंगे। बिना बैच लगाए पंडाल में कोई समिति का कार्य करते दिखेंगे तो उन पर कार्रवाई किया जाएगा। बिना बैच लगाए कार्य करने से असामाजिक तत्व के भी लोग पूजा समिति के कार्यकर्ता कह कर श्रद्धालुओं को परेशान पहुँचते है। दुर्गा पूजा के दौरान रात्रि में होने वाले कार्यक्रम को लेकर एसडीपीओ गौतम शरण ओमी ने बताया कि डीजे पर पूरी तरह प्रतिबन्ध रहेगा। कोई भी संस्कृति कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा। अनुमति से भक्तिमय कार्यक्रम जैसे रामलीला रासलीला नाटक मंचन कर सकते है। इस मौके पर सदर अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी सतीश बिहारी शरण, समाजसेवी उदय उज्जवल, चंदन कुमार, दीपक सिंह, पप्पू सिंह, टूटू सिंह, शिव कुमार गुप्ता, धर्मेंद्र मेहता, विनय कुमार सिंह, सुमित कुमार सिंह, अभिमन्यु कुमार, विक्रम, राकेश, संजय, शत्रुघ्न प्रसाद समेत दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page