विविध

इस बार के दीपावली में दिवाली संस्था सबको देगी खुशियां, “दानपात्र” संस्था के 25 हजार से ज्यादा वोलेंटियर देश के 10 लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक पहुंचाएंगे मदद , उनके जीवन को करेंगे रौशन

औरंगाबाद, कपिल कुमार

देश में ऐसे न जाने कितने ही गरीब बच्चे व परिवार हैं। जो हर साल दिवाली नहीं मना पाते। बबली ही देश दुनिया रौशन हो रहा हो पर कुछ गरीबो की जिंदगी दिवाली के दिन भी अंधेरी रातों में कटती है। सबके जिंदगी में खुशियों की रोशनी लाने के उद्देश्य से इस साल संस्था “दानपात्र” ने संकल्प लिया है कि इस बार की दीवाली में सबके मन खुशियों भरा हो। ऐसे 10 लाख से ज्यादा बेघर , बेसहारा परिवारों तक मदद पहुंचाने जा रही है। जिससे यह दिवाली इन परिवारों के लिए भी खुशियों वाली दिवाली मन सके
संस्था दानपात्र के सदस्यों द्वारा “दानपात्र” दिवाली मिशन 1 मिलियन रखा गया है जिसके माध्यम से देश के 50 से अधिक शहरों में 25 हजार से ज्यादा वॉलंटियर द्वारा 10 लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक कपड़े , राशन , किताबे , खिलौने एवं अन्य जरूरत का सामान पहुंचाकर उनकी मदद की जायेगी यह मिशन 9 अक्टूबर से 19 अक्टूबर तक चलेगा । टीम के सदस्यों का कहना है।


हर साल दीपावली पर घरों से ऐसा सामान बाहर आ जाता है जो कई जरूरतमंदों के काम आ सकता है। यही पुराना सामान किसी गरीब परिवार की खुशी की वजह बन सकता है। इसी सोच को मूर्तरूप देते हुए “दानपात्र” फाउंडेशन ने पुराना सामान को उपयोगी बना जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए मिशन 1 मिलियन रखा है। देश के अलग अलग शहरों में लोगों से अपील की जा रही है कि घरों से निकलने वाला सामान ना फेंके, ना बेचे। “दानपात्र” को डोनेट करे , ताकि उसका सही उपयोग हो सके। सोशल मीडिया पर भी लोगों से संस्था से जुड़ने और गरीब परिवारों के जीवन को रोशन करने की अपील की जा रही है। जिससे जरूरतमंदों को दीपावली पर खुशियों का तोहफा दे सके। पूरे देश से इस मिशन को सफल बनाने के लिए देशवासियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है ।

आप भी  जुड़ सकतेहैं दानपात्र के इस मिशन से, कर सकते हैं गरीबों की मदद

अपने उपयोग में न आ रहे सामान को डोनेट करके या वॉलंटियर के रूप में जुड़कर इस मिशन का हिस्सा बन सकते है जुड़ने के लिए दानपात्र के हेल्पलाइन नंबर 6263362660 पर संपर्क कर सकते हैं ।


संस्था “दानपात्र” क्या है, कैसे हुई इसकी शुरुआत ? जानिए सभी लोग

संस्था “दानपात्र” एक ऑनलाइन निःशुल्क ऐप के माध्यम से कार्य करती है जिसकी मदद से घरों में उपयोग में न आ रहे सामान जैसे कपड़े ,खिलोने ,किताबें ,जूते ,बर्तन इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स , फर्नीचर एवं अन्य सामान को कलेक्ट कर उपयोग लायक बना जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है पिछले 4 वर्षों में दानपात्र के माध्यम से लगभग 25 लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों तक मदद पहुंचाई जा चुकी है देश भर में कार्य कर रही संस्था “दानपात्र” से 25 हजार से ज्यादा वालंटियर्स जुड़े हुए है जो अपना समय देकर सहयोग करते है।

संस्था “दानपात्र” द्वारा अलग अलग शहरों में सेंटर बनाएं गए है जहां आकर कोई भी ऐप में रिक्वेस्ट डालकर सामान डोनेट कर सकता है “दानपात्र” टीम द्वारा इस सामान को फिल्टर कर उपयोग लायक बना जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया जाता है “दानपात्र” देने वाले और लेने वालों के बिच सेतु बनकर दोनों की ही मदद कर रहा है संस्था दानपात्र का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड , 2 बार इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के साथ साथ कई रिकॉर्ड्स में दर्ज किया जा चुका है

इंदौर के साथ साथ अयोध्या मथुरा , बिहार , उज्जैन , भोपाल , उदयपुर, सूरत अहमदाबाद , जबलपुर , ओडिशा जैसे देश के 50 से अधिक शहरों में “दानपात्र” के माध्यम से किया जा रहा सेवा कार्य

इंदौर के साथ साथ उज्जैन , भोपाल , बिहार , सूरत , मथुरा , ओडिशा जबलपुर , अहमदाबाद , उदयपुर जैसे देश के 50 से अधिक शहरों में “दानपात्र” के माध्यम से सेवा कार्य कर लोगों की मदद की जा रही है जल्द ही पूरे भारत के साथ साथ अन्य देशों में भी शुरू किया जाने वाला है दानपात्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page