विविध

औरंगाबाद में खुला सैनिक कैंटीन, काफी कम दामों पर सभी सामान उपलब्ध, आम आदमी भी इसका ले सकते हैं लाभ

औरंगाबाद सांसद ने फीता काटकर किया उद्घाटन, कहा जिले की ऐसी कैंटिंग की थी जरूरत, कम दामों पर शुद्धता के साथ मिलेंगे तमाम सामग्री

औरंगाबाद से कपिल कुमार

औरंगाबाद जिला मुख्यालय में सैनिक कैंटीन खुल गया। इसको खुलने से अब सैनिकों के अलावे आम आदमी भी इस कैंटीन से सामग्री खरीदारी कर लाभ ले सकते हैं। इसका उद्घाटन औरंगाबाद सांसद सुशील कुमार सिंह ने फीता काटकर किया।

इस मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सांसद सुशील कुमार सिंह ने कहा कि ऐसे कैंटीन की जिले की जरूरत थी। अब कैंटीन खुल जाने से सैनिकों को दूरदराज जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। कम दिनों की छुट्टी में सैनिक अपने घर आते थे और कैंटीन का लाभ लेने के लिए दूसरे जिलों में जाना पड़ता था। अब जिला मुख्यालय के बीचो बीच यानी नगर थाना के बगल में रामा कम्प्लेक्स नजदीक एल सिंह टावर के समीप इस कैंटीन के खुलने से हमारे जिले के साथ-साथ आस-पड़ोस जिले के भी सैनिक सामग्री को खरीदारी कर सकते हैं। इस सैनिक कैंटीन की बहुत बड़ी खासियत यह है कि कम दामों में काफी छूट के साथ सभी ब्रांडेड सामान मिल रहा है। उन्होंने कहा कि शुद्धता की गारंटी के साथ साथ कंपनी द्वारा निर्मित ब्रांडेड सामग्री डायरेक्ट इस कैंटीन में आता है। सैनिक के अलावे आम आदमी भी इस सामग्रियों का लाभ ले सकते हैं। जिले में बहुत सारे मॉल व कैंटीन हैं लेकिन इस कैंटीन की बात ही अलग है। कंपनी से डायरेक्ट सामग्री मिलना बहुत बड़ी बात है और वही ओरिजिनल सामग्री तमाम लोगों के बीच जा रहा है।

इस मौके पर ऱफीगंज के बौर पंचायत के पूर्व मुखिया व जिले के वरीय अधिवक्ता नीरज कुमार उर्फ मंटू सिंह ने कहा कि कैंटीन मालिक रफीगंज प्रखंड के फदरपुरा (वर्तमान पिरडीह) गांव निवासी बिंदेश्वर यादव है। इनके दो पुत्र अनिल व शशिकांत हैं। दोनों वर्तमान में आर्मी में कार्यरत हैं। आर्मी पद को संभालते हुए देश सेवा करते हुए इन्होंने जिले वासियों के लिए एक नई सोच के साथ कैंटीन की शुरुआत की है। ताकि इनके पिता भी रोजगार से जुड़े रहें और जिले वासियों का एक नया अवसर दें। मौके पर रफीगंज प्रखंड के बौर गांव निवासी समाजसेवी हरेंद्र सिंह ने कहा कि इस कैंटीन को खुलने से जिलेवासी तो लाभान्वित होंगे ही इसके साथ ही जिले वासियों के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है कि जिला मुख्यालय में अब तक कैंटीन नहीं था। लेकिन फदरपुरा गांव निवासी बिंदेश्वर यादव के पुत्र आर्मी अनिल कुमार व आर्मी शशिकांत कुमार के प्रयास से यह सैनिक कैंटीन खुला है। और इस कैंटीन में गरीब से गरीब लोग के लिए भी काफी कम कीमतों पर सामग्री उपलब्ध है। जो बाजारों में जिस मूल्य पर मिलता है, उससे काफी कम है और आम लोगों के लिए 10% की छूट भी दिया जा रहा है। इस कैंटिंग का नाम बेसियोर सैनिक कैंटीन मल्टीब्रांड रखा गया है। जिसमें एफएमसीजी स्टोर है इस कैंटीन में छोटे बड़े सभी सामान उपलब्ध हैं। इस मौके पर वरीय अधिवक्ता मुकेश सिंह, विनय शर्मा, टुनटुन सिंह, संचालक बिंदेश्वर यादव, नरेश यादव, आर्मी अनिल कुमार, शशिकांत कुमार, धनंजय कुमार, सुधीर कुमार समेत कई अन्य समाजसेवी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page