विविध

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान की हुई शुरुआत, केंद्रीय कृषि मंत्री ने किया उद्घाटन

औरंगाबाद कपिल कुमार

  • आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान का शुभारंभ मंगलवार को किया गया । इस दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, डॉ त्रिलोचन महपात्रा, निदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिसद, दिल्ली, ने संयुक्तरूप से उद्घाटन किया । इस कार्यक्रम मे भारत के सभी कृषि विज्ञान केन्द्र, वर्चुअल माध्यम से जुड़े हु थे । सर्वप्रथम भारत सरकार द्वारा संचालित कृषि योजनयो जैसे- प्रधान मंत्री किसान समान योजना, सिंचाई योजना, पशुपालन, मछलीपालन, किसान उत्पादक समूह आदि के बारे मे कृषि विज्ञान केन्द्र, मे उपस्थित किसानों से वर्चुअल माध्यम से जानकारी ली गई जिसमे किसानों ने कहा की की पिछले पाँच वर्षों मे हमारी आमदनी दुगुनी ही नही चार से दसगुनी तक बढ़ोत्तरी हुआ है । श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा की इस किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी के तहत किसान खेती के साथ साथ पशुपालन, मतस्यपालन, मधुमक्खी पालन, प्रधान मंत्री सिंचाई योजना, किसान उत्पादन समूह एवं खाधय प्रसंस्करण यूनिट को स्थापित करना, फसल विमा योजना आदि को भी अपनाए जिससे किसानों की आय मे बढ़ोत्तरी होगा। साथ ही किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ भी प्राप्त करे जिससे किसान अपने खेती मे सही समय पर आवश्यकतानुसार इनपुट खर्च करके अपने उत्पादन के साथ साथ अपनी आय को भी बढा सकते है ।
    किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी कार्यक्रम कृषि विज्ञान केन्द्र, सिरिस, औरंगाबाद मे आयोजित किया गया l जिसका उद्घाटन केन्द्र के वरीय वैज्ञानिक एवं प्रधान डॉ नित्यानंद, श्री रणवीर सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी, केन्द्र के वैज्ञानिकों ने संयुक्त रूप से किया l कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ नित्यानंद ने कहा की सरकार द्वारा संचालित योजनाओ मे किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना से जोड़ कर उन्हे लाभान्वित किया जा रहा है जिससे किसान आवश्यकतानुसार खेती मे सही समय पर खर्च करके अपने उत्पादन के साथ साथ अपनी आय मे भी बढ़ोत्तरी कर सके । पहले किसानों को महाजनों से कर्ज लेने पड़ते थे जिसका ब्याजदार अत्यधिक होता था जिससे किसानों को मूलधन के साथ साथ अत्यधिक ब्याज महाजन को देने के बाद शुद्ध आय कम होता था । साथ ही किसानों को फसल विमा योजना से भी जुड़कर अपने फसल की क्षति होने पर उन्हे फसल क्षति का भुगतान प्राप्त भी हो जाता है ।
    इस अवसर पर जिला कृषि पदाधिकारी सह परियोजना निदेशक आत्मा, ने कहा की औरंगाबाद मे 1,80,000 एसे किसान है जिन्हे प्रधानमंत्री किसान समान योजना का लाभ प्राप्त होता है । इन सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से अवश्य ही जोड़ा जाए इसके लिए कृषि समन्यवक एवं किसान सलाहकार को पंचायत स्तर पर किसानों को जागरूक करके उन्हे किसान क्रेडिट कार्ड से लाभान्वित किया जाय । श्री पंकज सिन्हा ने कहा की किसानों को नई तकनीकी को अपनाकर अपने खेती मे लगने वाले लागत को कम करके अपनी आमदनी मे बढ़ोत्तरी कर सकते है । डॉ आलोक भारती ने किसानों को खेती के साथ साथ पशुपालन, बकरीपालन, मुर्गीपालन की विस्तृत तकनीकी जानकारी दी जिससे किसान अपनी आय मे बृद्धि करें। डॉ संगीत मेहता ने किसानों को उधानकी फसलों की विस्तृत जानकारी दी। डॉ सुनीता कुमारी ने किसानों को मशरूम पालन की विस्तृत जानकारी दी । कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ अनूप कुमार चौबे ने कहा की किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के तहत एक वर्ष के लिए 4% ब्याजदार पर पैसे मिलते है अगर किसान निश्चित समय पर राशि को अगर नही चूकता करते है तो उन्हे 7% ब्याजदार चुकाना पड़ेगा । साथ ही मौसम पूर्वानुमान के बारे मे विस्तृत जानकारी दी । इस कार्यक्रम मे 300 से अधिक कृषि समन्वयक, बीटीएम, एटीएम एवं किसान सलाहकारों ने भाग लिया । इस दौरान केन्द्र के सभी कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page