विविध

जिले में अवैध रूप से शराब पीने और पिलाने के मामले में 55 लोग गिरफ्तार, मचा हड़कंप

सभी पर होगी कानूनी कार्रवाई, कोर्ट से ही मिलेगी फैसला: सिमा चौरसिया

औरंगाबाद, कपिल कुमार

शनिवार की शाम जिले के तमाम ग्रामीण क्षेत्रों में उस समय हड़कंप मच गया, जब घरवाले को पता चला कि उनके परिजन देर शाम तक घर नहीं लौटे। जब खोजबीन जारी किया गया तो पता चला कि अवैध तरीके से शराब बेचने पीने के मामले में पुलिस ने उनलोगों को अरेस्ट कर ले गयी है।
इसके बाद क्या था परिजनों ने कभी थाना का चक्कर काटना शुरू किया तो कभी राजनीतिक व जान पहचान वाले लोगों से पैरवी करवाने शुरू कर दिया, लेकिन किसी तरह का कोई पैरवी काम नहीं आया। क्योंकि पता चला कि जिन लोगों को अवैध तरीके से शराब पीने और पिलाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है उन लोगों को अरेस्ट करने वाले कोई बाहरी टीम था। कोई स्थानीय थाना पुलिस नहीं था। इस संबंध में पूछे जाने पर उत्पाद अधीक्षक मध निषेध सीमा चौरसिया ने बताया कि बिहार सरकार व जिला पदाधिकारी के निर्देशानुसार 20 अगस्त को पूरे जिले में बाहर की टीम द्वारा अवैध रूप से शराब बेचने पीने व सेवन करने वालों के खिलाफ छापेमारी अभियान चलाई गई है। हर प्रखंड व थाना मुख्यालय से होकर वरीय पदाधिकारियों की टीम गई है। जो लोग पी रखे थे, पी रहे थे वे शराब के नशे में थे व बेच रहे थे उन्हें गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही गुप्त सूचना के आधार पर अवैध तरीके से शराब कारोबार से जुड़े थे उन्हें भी गिरफ्तार किया गया है। उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि कुल 52 लोगों की गिरफ्तारी शराब सेवन करने के मामले में किया गया है। 3 लोगों को शराब बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। साथ ही एक ऑटो व भारी मात्रा में शराब भी बरामद किया गया है। सीमा चौरसिया ने बताया कि जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है उन्हें शराब पीने की पुष्टि के साथ ही अरेस्ट किया गया है। जो लोग गिरफ्तार हुए हैं उनपर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। गिरफ्तार सभी शराब कारोबारियों को अवैध शराब कानून एक्ट के तहत सजा दिलाया जाएगा और कोर्ट द्वारा ही उचित फैसला दिया जाएगा। इधर 55 लोगों की गिरफ्तारी के बाद जिले में हड़कंप मचा हुआ है। छापेमारी का नेतृत्व अधीक्षक मध निषेध औरंगाबाद कर रहे थे। निरीक्षक मध्य निषेध कुमकुम कुमारी, मनोज कुमार सिंह अवर निरीक्षक, रूबी कुमारी, निधि कुमारी, कामता प्रसाद एवं अमित कुमार सहायक अवर निरीक्षक शामिल थे । सासाराम से अवर निरीक्षक उत्पाद चंद्रमणि एवं गया से निरीक्षक जनार्दन प्रसाद अपने अधीनस्थ सशस्त्र बल के साथ छापेमारी में शामिल हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़ें

Back to top button

You cannot copy content of this page